नोएडा (युग करवट)। उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री व पूर्व सांसद डीपी यादव ने कोरोनाकाल में अनाथ हुए 60 बच्चों की फीस की जिम्मेदारी उठाई है। पूर्व मंत्री ने इन बच्चों की 12वीं तक की पढ़ाई की जिम्मेदारी उठाने के साथ-साथ उन्हें उच्च शिक्षा के लिए भी मदद करने का आश्वासन दिया। सर्फाबाद गांव स्थित यदु पब्लिक स्कूल में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान पूर्व मंत्री डीपी यादव ने 60 बच्चों की फीस स्कूल की प्रिंसिपल मृणालिनी सिंह को दी। उन्होंने कहा कि 12वीं कक्षा के बाद भी अगर उच्च शिक्षा के लिए इन बच्चों को मदद की आवश्यकता पड़ती है तो इसके लिए भी वह तत्पर रहेंगे। उन्होंने कहा कि बचपन में उन्होंने शिक्षा के लिए काफी संघर्ष किया वह नहीं चाहते कि अब कोई बच्चा शिक्षा के लिए संघर्ष करें। उन्होंने कहा कि अगर किसी बच्चे की शिक्षा आर्थिक तंगी के कारण रुक रही है तो ऐसे बच्चों की मदद के लिए वह हमेशा तैयार हैं। कार्यक्रम के पश्चात पूर्व मंत्री ने स्कूल परिसर में पौधारोपण किया। स्कूल मे कार्यक्रम के समापन के पश्चात पूर्व मंत्री डीपी यादव ने अपने पैतृक गांव सरफाबाद के ग्रामीणों से भी मुलाकात की और उनसे समस्याओं की जानकारी ली।