बिल्लू पर था एक लाख और राकेश पर था ५० हजार इनाम, अनिल दुजाना गैंग के थे सदस्ययुग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। बीती रात मधुबन बापूधाम व इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में एसएसपी मुनिराज की अगुवाई में हुए दो एंकाउंटर के दौरान बदमाशों व पुलिस टीम के बीच हुई फायरिंग हुई जिसमें पुलिस की गोली लगने से 1 लाख व 50 हजार के इनामी दो बदमाश ढेर हो गए। वहीं बदमाशों की गोली लगने से एसपी सिटी व सीओ फस्र्ट की जान बाल-बाल बच गई। इन मुठभेड़ों में आरक्षी नीरज व संदीप के अलावा स्वाट टीम प्रभारी अब्दुल रहमान सिदïï्दीकी भी घायल हो गये। जबकि बुलेटप्रूफाजैकेट पहने होने की वजह से सीओ तृतीय अभय मिश्रा व एसएचओ इंदिरापुरम मनीष बिष्टï की जान गोली लगने के बाद भी बच गई। मारे गये बदमाशों के पास से दो बाइक व 9 एमएम की दो पिस्टल व मैग्जीन के अलावा कारतूसों की खेप भी मिली।
उक्त जानकारी देते हुए एसएसपी मुनिराज ने बताया कि बीती रात क्राइम ब्रांच की एसपी दीक्षा शर्मा की टीम को सूचना मिली कविनगर थाना क्षेत्र की वेव सिटी में हुए दोहरे हत्याकाण्ड़ का अभियुक्त और आतंक का प्राय बन चुके अनिल दुजाना गैंग का शातिर बदमाश बिल्लू गैंगस्टर उर्फ अवनीश अपने एक साथी के साथ बाइक पर सवारा होकर पुश्ता होते हुए इंदिरापुरम में आने वाला है। इस सूचना के मिलते ही एसपी क्राइम दीक्षा शर्मा, सीओ तृतीय अभय कुमार मिश्रा, स्वाट टीम प्रभारी अब्दुल रहमान सिदï्दीकी और एसएचओ इंदिरापुरम मनीष बिष्टï टीम बनाकर चेकिंग में लग गए। तभी पुलिस ने बाइक पर आ रहे दो बदमाशों को जब रोकने का प्रयास किया तो वे गोली चलाकर पुश्ता बैराज की ओर भागने लगे। बैराज के बाद उनकी बाइक जब अनियंत्रित होकर कच्चे रास्ते पर गिर गई तो बदमाशों ने पुलिस पर अंधाधुंध गोलियां चलानी शुरू कर दी। श्री मुनिराज ने बताया कि इस गोलीबारी में जहां बदमाशों की गोली बुलेट प्रूफ जैकेट पहने सीओ तृतीय अभय कुमार मिश्रा व एसएचओ मनीष बिष्टï को जा लगी , वहीं स्वाट टीम प्रभारी के अलावा आरक्षी संदीप गोली लगने से घायल हो गये। पुलिस के द्वारा की गई जवाबी फायरिंग में गोली लगने से अनिल दुजाना गैंग का दाहिना हाथ और एक लाख का ईनामी बिल्लू दुजाना उर्फ अवनीश घायल हो गया। अस्पताल में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। कप्तान ने बताया दूसरी मुठभेड़ मधुबन बापूधाम थाना क्षेत्र में एसपी सिटी प्रथम निपुण अग्रवाल और सीओ फस्र्ट स्वतंत्रदेव सिंह, थाना प्रभारी बापूधाम मुनेष कुमार के अलावा क्राइम ब्रांच की टीम के साथ हुई मुठभेड़ में दोनों ओर से चली गोलियों की जद में आकर जहां एसपी सिटी व सीओ फस्र्ट बुलेट प्रूफ जैकेट पहने की वजह से उनकी जान गोली लगने के बाद भी बच गई, वहीं एनडीआरएफ रोड पर हुई मुठभेड़ में नीरज नामक आरक्षी घायल हो गया। जवाबी कार्रवाई में पुलिस के द्वारा चलाई गई गोलियों की जद में आकर पचास हजार का ईनामी राकेश दुजाना ढेर हो गया। कप्तान ने बताया कि अवनीश उर्फ बिल्लू दुजाना पर २७ मुकदमें, राकेश पर १५ मुकदमें दर्ज हैं, जिसमें नोएडा, गाजियाबाद, बागपत के मुकदमें शामिल हैं।