युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। पांच जून को लोनी बॉर्डर थाना क्षेत्र में कुछ युवकों द्वारा बुजुर्ग के साथ मारपीट उनके परिचित युवकों ने ही की थी। लेकिन वादी ने पहले अज्ञात युवकों द्वारा मारपीट करने व दूसरे संप्रदाय के युवकों द्वारा जबरन दाढ़ी काटने और धार्मिक नारे लगवाने की बात बताई थी। पुलिस ने उक्त अपराधिक मामले को गंभीरता से लेते हुए रिपोर्ट दर्ज कर जब इसकी पूरे प्रकरण की जांच की तो पता चला कि किसी सांप्रदायिक द्वेष अथवा धार्मिक उन्माद के चलते नहीं बल्कि बुजुर्ग द्वारा दिए गये ताबिज के बाद आरोपितों व उनके परिजनों के साथ घटने वाले अप्रिय घटनाएं थीं, यह कहना है डीआईजी अमित पाठक का। युग करवट के संवाददाता के प्रश्नों का उत्तर देते हुए डीआईजी/एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि कुछ शरारती एवं अराजक तत्वों ने एक साजिश के तहत सोशल मीडिया के माध्यम के सहारे सांप्रदायिक फिजा को खराब करने का सिलसिलेवार कुकृत्य किया। जिसके बाद पुलिस ने जहां टिï्वटर कम्युनिकेशन प्राइवेट लिमिटेड, व ट्विटर इंचार्ज के अलावा टिï्वटर को हैंडल करने वाले सात व्यक्तियों के खिलाफ १५३, १५३ए, २९५ए, ५०५, १२०बी व ३४ जैसी अपराधिक धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर अग्रिम कार्रवाई शुरू कर दी। श्री पाठक ने बताया कि उक्त अपराधिक घटना के बाद पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर प्रवेश गुर्जर, आदिल और कल्लू को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था। सोशल मीडिया, प्रिंट मीडिया और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया जैसे माध्यमों से सारे घटनाक्रमों का उल्लेख करते हुए उनके द्वारा यह अपील भी की गई थी कि कोई भी उक्त मामले को सांप्रदायिक स्वरूप देने की कोशिश ना करें। श्री पाठक ने बताया कि उनकी लाख कोशिशों के बावजूद कुछ शरारती तत्वों ने किसी उदï्देश्य से सोशल मीडिया विशेषकर टिïï्वटर अकाउंट का सहारा लेकर दो संप्रदायों के बीच जहर घोलने के लिए जमकर प्रचार-व प्रसार किया था। श्री पाठक ने कहा कि सांप्रदायिक माहौल को खराब करने के पीछे और किस-किस का हाथ है, पुलिस ने यह पता लगाने के लिए जांच शुरू कर दी थी। जांच के दौरान कई और लोगों के तार इस साजिश से जुड़ते हुए दिखाई दिए। इसके बाद पुलिस ने ऐसे कई लोगों को भी अपने रडार पर लेकर उनकी कुंडलियां खंगालनी शुरू कर दी हैं। श्री पाठक ने बताया कि शीघ्र ही कई और साजिशकर्ताओं के चेहरों को बेनकाब करके पुलिस उनके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई करेगी। श्री पाठक ने बताया कि सांप्रदायिक सौहार्द को खराब करके दो संप्रदायों के बीच जहर घोलने वाला चाहे कोई भी हो, उसे किसी भी कीमत पर नहीं बक्शा जायेगा।

भारत में पहली बार गाजियाबाद में हुई टिï्वटर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज
भारत में पहली बार टिï्वटर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई है। वह भी अपने एप्स का जनहित में प्रयोग ना करने और सांप्रदायिक माहौल को खराब करने वाले लोगों को सहयोग देने जैसे अपराधिक मामले में। बता दें कि पांच जून को लोनी बॉर्डर थाना क्षेत्र में बुजुर्ग के साथ हुई मारपीट व अभद्रता करने की घटना को सांप्रदयिक द्वेष का रंग देकर सांप्रदायिक सौहार्द को खराब करने के मामले में गाजियाबाद पुलिस प्रशासन ने टिï्वटर के खिलाफ भी सख्त रवैया अपनाते हुए इस कंपनी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करके जांच शुरू कर दी।