नगर संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर व डासना मंदिर के पीठाधिश्वर यति नरसिंहा नंद गिरी ने एक यूटयूब न्यूज चैनल के दबाव में आकर पुलिस पर गलत कार्रवाई का आरोप लगाया है। एक प्रेसवार्ता में महामंडलेश्वर ने आरोप लगाया कि यह इस चैनल के लोग खबर की आड़ में धन उगाही का काम रहे हैं। २४ मई को वेव सिटी थाना क्षेत्र में कुछ ग्रामीण अपने मकान का निर्माण करा रहे थे, जहां इस चैनल के लोग पहुंचे और सुविधा शुल्क की मांग करने लगे, ना देने पर गाली गलौच करने लगे, जिसमें वार्ड-४२ के पार्षद प्रमोश यादव के पति राजेश यादव और अनिल यादव मौके पर पहुंचे और मामले को शांत कराया। लेकिन पुलिस ने इस मामले में चैनल के दबाव में लूट का मुकदमा दर्ज कर लिया, जबकि सीसीटीवी में पूरी घटना कैद है। महामंडलेश्वर ने चैनल के मलिक और एंकर आरोप लगाया कि दोनों पर पूर्व में भी मुकदमे दर्ज हैं जिसमें बाबा रामदेव द्वारा दर्ज मुकदमा का जिक्र भी किया। अनिल यादव ने बताया कि उनके खिलाफ क्रॉसिंग थाने में कई मुकदमे दर्ज कर उन्हें हिस्ट्रीशीटर बना दिया गया है जबकि वह कभी क्रॉसिंग थाने गए भी नहीं है। राजेश यादव को भूमाफिया, अनिल यादव पर गैंगस्टर, गुंडा एक्ट व भूमाफिया के आरोप लगाए गए हैं। अनिल यादव ने कहा कि उनकी छवि को धूमिल करने का प्रयास किया जा रहा है। वह सभी के खिलाफ कोर्ट में मानहानि का मामला दर्ज कराएंगे। प्रेसवार्ता में हितेश चौधरी, पंकज आदि मौजूद रहे।