नोएडा (युग करवट)। नोएडा के सेक्टर-21 स्थित जल वायु विहार में दीवार गिरने से हुई 4 मजदूरों की मौत और 8 मजदूरों के घायल होने के मामले के बाद पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) हरीश चंदर ने नोएडा प्राधिकरण को पत्र लिखकर कहा है कि वे जर्जर भवनों के मरम्मत और निर्माण के समय यह सुनिश्चित करें कि सुरक्षा के मानक पूरे हो। डीसीपी ने बताया कि उन्होंने प्राधिकरण के अधिकारियों को पत्र लिखकर कहा है कि इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति ना हो इस बात को वे सुनिश्चित करें। मालूम हो कि नोएडा शहर में 56 जर्जर इमारतों को पूर्व में चयनित किया गया था। सर्वे के दौरान इन इमारतों को गिरने का खतरा बताया गया था। अलग-अलग खतरनाक श्रेणी में कुल 1757 इमारतों को चयनित किया गया था। ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी गांव में इमारत गिरने के बाद यह सर्वे हुआ था, लेकिन कुछ समय बाद नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी इसे भूल गए तथा जर्जर इमारतों का उन्होंने सुध नहीं ली।