युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। पूर्व सांसद सुरेंद्र प्रकाश गोयल के पुत्र सुरेंद्र सुशांत गोयल ने शहर के बीच स्थित एमएमजी अस्पताल के पुराने महिला वार्ड एवं बर्न वार्ड में कोविड के मरीजों की व्यवस्था किए जाने की ओर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अतुल गर्ग का ध्यान आकर्षित कराया है। सुशांत गोयल का कहना है कि दोनों वार्ड अब बंद हो चुके हैं। वहां कोविड के मरीजों के लिए अच्छी व्यवस्था की जा सकती है।
पूर्व सांसद के पुत्र का कहना है कि सरकारी अस्पताल में पुराने महिला अस्पताल एवं बर्न वार्ड अब बंद पड़े हुए हैं। यहां कुछ तकनीकी समस्याओं को दुरूस्त कर कोविड मरीजों के लिए अच्छी व्यवस्था कराई जा रही है। सुशांत गोयल का कहना है कि जनपद के लोग कोरोना संक्रमण के चलते एक-एक बेड अस्पतालों में लेने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। ऐसे में यदि इस तरीके से कुछ बेड एमएमजी अस्पताल में बढ़ाए जा सकते हैं तो इससे समस्या कुछ तो कम होगी। सुशांत गोयल ने कहा है कि वे कोविड की बीमारी को करीब से देख चुके हैं। उन्होंने अपने पिता को कोरोना संक्रमण के कारण ही खोया है। ऐसे में वे इस दौर में संक्रमण से लड़ रहे लोगों और उनके परिजनों का दर्द बखूबी समझते हैं। उन्होंने कहा है कि हज हाऊस और मानसरोवर भवन में भी कोविड सेंटर बनाने की मांग उठ चुकी है। वे भी इस बात के पक्षधर हैं कि यहां भी कोविड के मरीजों के उपचार की व्यवस्था की जाए। सुशांत गोयल ने कहा है कि इस समय सबसे बड़ी प्राथमिकता लोगों के जीवन को बचाना है। इसमें एक बेड का सहयोग करना भी बड़ी बात है।