युग करवट संवाददाता
लखनऊ। जैसे-जैसे चुनाव की तिथि की घोषणा नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे राजनीति तापमान और घटनाक्रमों में तेजी से बदलाव आ रहा है। आज कनौज में ऐसा ही कुछ हुआ। पीयूष जैन मामले को लेकर अखिलेश यादव प्रेसवार्ता करने वाले थे और पार्टी एमएलसी पुष्पराज जैन इसका हिस्सा बनने वाले थे लेकिन इससे पहले ही आयकर विभाग की टीम ने सपा विधायक पुष्पराज उर्फ पम्मी जैन के घर व अन्य स्थानों पर छापा मार दिया। इत्र और गुटखा कारोबारी पीयूष जैन के यहां से मिली अकूत सम्पत्ति के बाद आयकर विभाग ने पुष्पराज जैन के ठिकानों पर छापेमारी की है। समाजवादी पार्टी अभी पीयूष जैन के मामले से पल्ला झाड़ भी नहीं पाई थी कि उसके सामने अब पम्मी जैन को लेकर भी परेशानी बढ़ गई है। पुष्पराज जैन समाजवादी पार्टी के एमएलसी हैं और इन्होंने 9 नवंबर को समाजवादी इत्र समाजवादी परफ्यूम लॉन्च किया था।
सूत्रों ने बताया कि आयकर विभाग की टीम सुबह 7 बजे पुष्पराज जैन के घर पहुंची। और जांच शुरू की। कन्नौज के अलावा पुष्पराज के मुंबई ठिकानों पर भी आयकर के छापे पड़े हैं। सूत्रों के मुताबिक, आयकर विभाग की टीम पुष्पराज जैन के घर, ऑफिस समेत 50 ठीकानों पर तलाशी ली। आयकर विभाग की टीमों ने उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि अन्य राज्यों में भी छापा मारा है। शुरुआती जानकारी में टैक्स चोरी के आरोप में ये छापेमारी करने की बात कही जा रही है। पुष्पराज जैन के अलावा आयकर विभाग की टीम कन्नौज के एक और इत्र कारोबारी मोहम्मद याकूब के यहां भी छापा मारा है। इनके अलावा मलिक परफ्यूम के मालिक मलिक मियां के भी कन्नौज में छापेमारी की गई। मलिक मियां कन्नौज में पुराने और बड़े इत्र कारोबारियों में गिने जाते हैं। पुष्पराज जैन के यहां छापेमारी की खबरें आते ही इस पर सियासत भी शुरू हो गई है। सपा का कहना है कि अखिलेश यादव ने जैसे ही कन्नौज में प्रेस कॉन्फ्रेंस की घोषणा की, वैसी ही भाजपा सरकार ने सपा एमएलसी पम्पी जैन के यहां छापामार कार्रवाई शुरू कर दी। सपा ने कहा कि भाजपा का डर और बौखलाहट साफ है।