युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए जिले में बनाए गए पीकू वार्डों का आज निरीक्षण किया गया। मेरठ मंडल की संयुक्त निदेशक डॉ.अंजु ने सबसे पहले जिला संयुक्त अस्पताल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण किया। इसके बाद उन्होंने अस्पताल में बने पीकू वार्ड का दौरा किया। वहां वार्ड प्रभारी से उन्होंने वार्ड में उपलब्ध सुविधाओं से लेकर उपकरणों की बारीकी से जानकारी ली। कोरोना संक्रमित बच्चों को किस प्रकार से भर्ती होने के बाद इलाज दिया जाएगा, कितना स्टाफ मौजूद रहेगा, यह जाना। स्टाफ के प्रशिक्षण से लेकर दवाओं तक के बारे में गहनता से जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने वार्ड में रखे उपकरणों के बारे में अस्पताल के स्टाफ को भी पर्याप्त जानकारी देने के निर्देश दिए। संयुक्त निदेशक डॉ.अंजु ने बताया कि इस तरह के निरीक्षण करने का उद्देश्य है कि कोरोना संक्रमण बढऩे से पूर्व ही हम अपनी स्वास्थ्य सेवाओं को पूरी तरह से दुरूस्त कर लें। जहां जो कमी मिल रही है, उसे ठीक कराया जा रहा है ताकि संक्रमण के दौर में किसी प्रकार की कोई समस्या ना आए। कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर उन्होंने कहा कि अभी इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है लेकिन हमें अपने स्तर से पूरी तैयारी करनी है। कल पीकू वार्डों की तैयारियों को लेकर छह स्थानों पर मॉकड्रिल की जाएगी। जिसमें जिला संयुक्त अस्पताल, जिला अस्पताल, संतोष अस्पताल, डासना, मुरादनगर, लोनी के बनाए गए पीकू वार्ड में तैयारी की जाएगी। निरीक्षण के दौरान सीएमओ डॉ.भवतोष शंखधर, सीएमएस डॉ. संजय तेवतिया, डॉ.सुनील त्यागी आदि मौजूद रहे।