गाजियाबाद (युग करवट)। हाल ही में यूपी सरकार द्वारा गठित पिछड़ा आयोग को नगर निगम ने सर्वे कराने के बाद किन्नर की वार्ड वार स्थिति और उनके आरक्षण पर रिपोर्ट तलब की थी। डेटा के हिसाब से सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित वार्ड में भी 34 ऐसे पार्षद है जो पिछड़ा वर्ग से चुनाव जीत कर पार्षद बने। यह किन्नर वार्ड नंबर 19, वार्ड 33, 61 आदि में पाए गए है। नगर निगम ने अपनी रिपोर्ट आज राज्य पिछड़ा आयोग को भेज दी है। निगम के सर्वे के मुताबिक शहर में कुल किन्नर की संख्या 36 है।