गाजियाबाद(युग करवट)। पार्षद सुधीर कुमार की गिरफ्तारी का मामला ठंडा पड़ता नहीं दिख रहा है। आज सुबह फिर पार्षद नगर निगम कार्यालय पर एकत्र हुए। वहां उन्होंने आपस में विचार विमर्श किया। पुलिस के खिलाफ नाराजगी जताते हुए नारेबाजी की। इसके बाद सभी पार्षद एडडिशल सीपी के कार्यालय की ओर कूच गए। पार्षदों ने बताया कि कल एडिशनल सीपी कल्पना सक्सैना ने आज सुबह कार्रवाई के बारे में जानकारी देने की बात कही थी। उसी के बारे में जानने के लिए वह उनके कार्यालय पहुंचे। कार्यालय पहुंचने के बाद उनकी मुलाकात एडिशनल सीपी कल्पना सक्सैना से हुई लेकिन पार्षद उनकी बात से संतुष्टï नहीं हुए और उन्होंने अपनी बात कमिश्नर के सामने रखने की बात की और कमिश्नर आवास की तरफ जाने लगे तो पुलिस ने उन्हें रोका। सीपी से मुलाकात की जाने की मांग को लेकर सभी पार्षद जब सीपी आवास की ओर जाने लगे तो पुलिस ने उन्हें रोक लिया इसी बात को लेकर उनकी झड़प पुलिस से हो गई। पुलिस ने कहा कि उनकी बात पहुंचा दी जाएगी लेकिन कोई पार्षद नहीं माना और इस चिलचिलाती धूप में सभी पार्षद सडक़ पर बैठ गये। भाजपा पार्षद एवं कार्यकारिणी सदस्य शीतल चौधरी ने पूरे आंदोलन की एक तरह से कमान संभाल रखी थी और पुलिस द्वारा बिना जांच किये पार्षद सुधीर कुमार की गिरफ्तारी को लेकर वो काफी आक्रोश दिखाई दे रही थी। कल भी पार्षदों ने अपनी एकजुटता दिखाई थी। पुलिस प्रशासन ने आज का समय दिया था लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होने से पार्षद आज फिर हंगामे पर उतर आये और सडक़ पर बैठ गये