युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। पार्षद राजेन्द्र त्यागी और अनिल स्वामी के विरोध के बाद भी नगर निगम ने पार्किंग का टेंडर कैंसल नहीं किया है। नगर निगम शहर की सभी पार्किंग का ठेका एक ही कंपनी को देने की तैयारी में लगा है। इसके लिए निगम ने हाल ही में टेंडर मांगा है। जिसका न्यूनतम प्राईज करीब साढ़े सात करोड़ रुपये तय किया गया है। सभी पार्किंग का ठेका किसी एक कंपनी को देने को लेकर अब नया विवाद पैदा हो गया है। पार्षद राजेन्द्र त्यागी और अनिल स्वामी इसके विरोध करना शुरू कर दिया है।
दोनों ही पार्षदों का कहना है कि निगम ने जो टेंडर मांगा है वह बिना बोर्ड की अनुमति के मांगा है। उनका कहना है कि यह टेंडर निरस्त होना चाहिए। साथ ही उनका कहना है कि अगर निगम ऐसा नहंी करता है तो बोर्ड की बैठक में इसे निरस्त किया जाएगा। इस मामले में नगर निगम का कहना है कि पहले पार्किंग से केवल 24 लाख रूपये की इनकम एक वर्ष में होती थी। निगम ने अब नई पॉलिसी से इनकम को बढ़ाकर करीब ढ़ाई करोड़ कर दिया।