युग करवट ब्यूरो
नई दिल्ली। भाजपा के स्थापना दिवस के मौके पर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। यहां मोदी ने कहा कि भाजपा एक भारत, श्रेष्ठ भारत के मंत्र पर चल रही है। पीएम ने वो तीन बातें भी बताई जिनकी वजह से भाजपा का 42वां स्थापना दिवस और ज्यादा खास हो गया है। इससे पहले पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा और सीएम योगी ने भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित किया था। देश में अभी दो तरह की राजनीति चल रही है। एक है परिवार भक्ति की। दूसरी है देश भक्ति की। देश में कुछ राजनीतिक दल हैं जो अपने परिवारवालों के लिए काम कर रहे हैं। भाजपा ने ही परिवारवाद के खिलाफ बोलना शुरू किया और इसे चुनावी मुद्दा बनाया। लोगों को समझ आ गया है कि परिवारवादी सरकारों लोकतंत्र की दुश्मन हैं और संविधान को कुछ नहीं समझती। दशकों तक कुछ दलों ने वोटबैंक की राजनीति की। कुछ लोगों को ही वादा करो। ज्यादातर लोगों को तरसाकर रखो। भेदभाव, भ्रष्टाचार सब वोटबैंक की राजनीति के साइड इफैक्ट थे। भाजपा ने इस राजनीति को टक्कर दी है। देशवासियों को इसके नुकसान बताने में सफल रही है।
मोदी बोले कि भाजपा का यह स्थापना दिवस तीन वजहों से महत्वपूर्ण है। आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं। आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। तेजी से बदलती वैश्विक परिस्थितियां, जिसमें भारत के लिए लगातार नई संभावनाएं बन रही हैं। चार राज्यों में भाजपा की सरकारें वापस लौटी हैं। तीन दशकों बाद राज्यसभा में किसी पार्टी के सदस्यों की संख्या 100 के पार पहुंची है। भाजपा कार्यकर्ता देश के सपनों का प्रतिनिधि है। यह भाजपा के कार्यकर्ताओं का कर्तव्य काल है। देश बदल रहा है देश आगे बढ़ रहा है। देश अपने हितों के लिए अडिग रहता है, देश के पास आज नीति भी है नियत भी है। देश के पास निर्णय शक्ति भी है और निश्चिय शक्ति भी है इसलिए आज हम लक्ष्य तय कर रहे हैं और उन्हें पूरा भी कर रहे हैं।
भाजपा की नई टोपी में दिखे सीएम योगी
भाजपा के स्थापना दिवस पर लखनऊ स्थित भाजपा मुख्यालय में भी कार्यक्रम हुआ। इसमें सीएम योगी शामिल हुए। यहां मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि भाजपा की यात्रा देश और दुनिया के राजनीतिक विश्लेषकों के लिए आश्चर्य का विषय है, ये यात्रा बहुत कुछ कह देती है। वह आगे बोले कि भारतीय जनसंघ की स्थापना का उद्देश्य यही था कि हमें सत्ता की राजनीति नहीं, हमें भारत के लिए समर्पण का भाव पैदा करने वाले लोगों को एक राजनीतिक दल के रूप में आगे बढ़ाने का कार्य करना है।