युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। नगर निगम के पदेन सदस्यों द्वारा बोर्ड बैठकों को लेकर उदासीनता दिखाने, बोर्ड बैठकों में शामिल नहीं होने को लेकर भाजपा में ही अब सवाल उठने लगे हैं। नगर निगम में सभी तीन विधायक-अतुल गर्ग, सुनील शर्मा और अजीतपाल त्यागी, विधान परिषद सदस्य दिनेश गोयल, राज्यसभा सांसद डॉ. अनिल अग्रवाल और लोकसभा सांसद जनरल वी के सिंह पदेन सदस्य है। सभी पदेन सदस्य नगर निगम की बोर्ड बैठक या किसी चुनाव में भाग लेने के लिए अधिकृत है लेकिन ये पदेन सदस्य किसी भी बोर्ड बैठक में भाग नहीं लेते हैं।
दो दिन पहले नगर निगम की बोर्ड बैठक में कोरम पूरा नहीं हो पाया था। जिस कारण बोर्ड बैठक शुरू होने में विलंब हो गया। मंगलवार को बोर्ड बैठक करीब एक घंटे लेट शुरू हुई। कारण, बैठक के लिए आवश्यक कोरम पूरा नहीं हो पा रहा था। इस बोर्ड बैठक में एक भी पदेन सदस्य ने भाग नहीं लिया।
भाजपा के वरिष्ठ नेता व पार्षद हिमांशु लव ने पदेन सदस्यों द्वारा नगर निगम की बोर्ड बैठकों में भाग नहीं लेने पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि नगर निगम के एक पार्षद को जो अधिकार प्राप्त हैं, एक पदेन सदस्य को भी वही अधिकार प्राप्त है। बोर्ड बैठकों में पदेन सदस्य नगर निगम व वार्ड या शहर से जुड़े विषयों को उठा सकते हैं लेकिन पदेन सदस्य बैठकों में भाग ही नहीं लेते हैं।