नोएडा (युग करवट)। महिला पुलिसकर्मी के प्यार में पागल लैब कर्मी द्वारा अपने दो बच्चों को पत्नी की हत्या कर शव को मकान के बेसमेंट में दफनाने के मामले में थाना बिसरख पुलिस ने हत्या की धारा में मुकदमे को तरमीन कर दिया है। इस मामले में 14 फरवरी वर्ष 2018 को मृतका श्रीमती रत्नेश के पिता मोतीलाल ने थाना बिसरख में अपनी बेटी रत्नेश तथा उसके दो बच्चे अवनी तथा अर्पित के अपहरण के मुकदमा दर्ज कराया था। मोतीलाल ने राकेश के ऊपर अपहरण का शक जाहिर किया था। यह मुकदमा कोर्ट के आदेश पर दर्ज हुआ था। 3 दिन पूर्व जनपद कासगंज पुलिस ने आरोपी राकेश को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ किया तो उसने पुलिस को बताया कि जनपद आगरा में तैनात महिला पुलिसकर्मी रूबी से वह प्रेम करता था। उसके परिजनों ने जबरन रत्नेश नामक महिला से उसकी शादी करा दी थी। वह रूबी के साथ शादी करना चाहता था। पुलिस को दिए बयान में राकेश ने बताया कि उसने वर्ष 2018 में अपनी पत्नी व दो बच्चों की हत्या कर उनके शव को ग्रेटर नोएडा मे स्थित अपने मकान के बेसमेंट में दफना दिया था। कासगंज पुलिस बुधवार की रात को नोएडा पहुंची तथा ग्रेटर नोएडा स्थित उसके मकान की खुदाई करवाई गई। खुदाई के दौरान तीन नर कंकाल मिले हैं। जिसे पुलिस ने फोरेंसिक टेस्ट के लिए भेजा है।
पुलिस उपायुक्त (जोन द्वितीय) हरीश चंदर ने बताया कि थाना बिसरख पुलिस ने अपहरण की धारा से हत्या की धारा में मामले को तरमीन कर लिया है। उन्होंने बताया कि गौतम बुद्ध नगर पुलिस पत्नी और बच्चों की हत्या करने वाले राकेश को पुलिस कस्टडी रिमांड पर लेने के लिए कासगंज जनपद न्यायालय में अपील करेगी। उन्होने बताया कि आरोपी ने पत्नी और बच्चों की हत्या करने के अपने एक दोस्त की हत्या कर दी, तथा उसके शव को रेलवे ट्रैक के पास फेंक दिया। डीसीपी ने बताया कि आरोपी ने शव का सिर तथा हाथ काट दिया था, तथा अपना जीवन बीमा के कागजात व अन्य पहचान सामग्री उसकी जेब में रख दिया था। आरोपी के घर वालों ने शव की शिनाख्त राकेश के रूप में कर दी थी।
आरोपी ने खुद को मृत साबित करने के बाद बाद, चेहरे की प्लास्टिक सर्जरी करवा ली थी ताकि उसकी पहचान ना हो सके। उन्होंने बताया कि आरोपी नोएडा मे एक पैथोलॉजी लैब में काम करता था। उसे मेडिकल क्षेत्र की काफी जानकारियां थी। डीसीपी ने बताया कि इस मामले में राकेश के अलावा उसके पिता बनवारी लाल, भाई राजीव एवं प्रवेश तथा मां इंद्रावती के खिलाफ भी हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ है।