नोएडा (युग करवट)। नोएडा शहर की आबोहवा में जहर घोलने के लिए कुछ लोग सोशल मीडिया पर एक हिंदू युवती के साथ मुस्लिम युवक द्वारा यौन शोषण करने का मामला सोशल मीडिया पर प्रसारित कर रहे हैं। इस मामले की जांच पुलिस उपायुक्त महिला सुरक्षा वृंदा शुक्ला ने की। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान पाया गया है कि जिस युवती के साथ यौन शोषण की बात सोशल मीडिया में प्रसारित की जा रही है, वह युवती हिंदू नहीं मुस्लिम है। मुस्लिम युवती ने हिंदू नाम रखा है। उसके पिता का कुछ समय पूर्व देहांत हुआ था, जिनका मुस्लिम रीति रिवाज से अंतिम संस्कार किया गया है। उन्होंने बताया कि जिस युवक पर यौन शोषण का आरोप लगा है वह भी मुस्लिम है।
डीसीपी ने बताया कि 2 माह पूर्व एक अधिवक्ता के माध्यम से इस मामले मे थाना सेक्टर 20 पुलिस को शिकायत की गई थी। जांच के दौरान पुलिस ने युवती तथा आरोपी दोनों को थाने में बुलाया। दोनों को आमने-सामने बैठाकर बातचीत कराई गई। युवती ने अपने साथ यौन शोषण होने से साफ इनकार कर दिया था। उन्होंने बताया कि सारी कार्रवाई की पुलिस ने वीडियो रिकॉर्डिंग की है। युवती ने पुलिस को बताया था वह ज्यादा पढ़ी-लिखी नहीं है तथा अधिवक्ता ने यह कहकर कि उसकी शादी उसके दोस्त से करवा दी जाएगी, उससे हस्ताक्षर करवाया था। उन्होंने बताया कि जून माह में ही दोनों पक्षों में समझौता हो गया था। इसके बाद किसी व्यक्ति ने पुरानी वीडियो को सोशल मीडिया के माध्यम से वायरल किया है तथा नोएडा पुलिस पर गंभीर आरोप लगाया है। डीसीपी ने बताया कि इस मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस तरह की अफवाह फैलाकर कानून व्यवस्था को चुनौती देने वाले लोगों के खिलाफ भी पुलिस कार्रवाई करेगी। उन्होंने बताया कि कुछ असामाजिक तत्व इस मामले को मजहबी रूप देकर शहर का माहौल खराब करना चाह रहे हैं।
वहीं पुलिस सूत्र बताते हैं कि सेक्टर-8, 9 ,10 की झुग्गी-बस्ती क्षेत्र में अवैध रूप से गांजा, चरस, शराब, देह व्यापार, पशु वध, तथा सट्टे का कारोबार करने वाले लोगों के खिलाफ पुलिस ने सख्त रूख अख्तियार किया है। कुछ नेता तथा मीडिया से जुड़े लोगों का भी इस अवैध कारोबार में संलिप्तता है। पुलिस द्वारा की जा रही सख्त करवाई से नेता तथा सफेद पोश लोग परेशान हैं। पुलिस की कार्रवाई से इनका अहित हो रहा है यह लोग पुलिस को घेरने के लिए तरह-तरह के दुष्प्रचार कर रहे है। सूत्र बताते हैं कि इनके गैंग में उत्तर प्रदेश के एक बहुचर्चित पूर्व पुलिस अधिकारी की पत्नी भी शामिल है।