नोएडा/ग्रेटर नोएडा (युग करवट)। भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) और संयुक्त किसान मोर्चा के आहवान पर आज नोएडा व ग्रेटर नोएडा में भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले किसानों ने ट्रैक्टर मार्च का आयोजन किया। भाकियू के मीडिया प्रभारी सुनील प्रधान ने बताया कि पश्चिम प्रदेश अध्यक्ष पवन खटाना के नेतृत्व में आज एक्सप्रेसवे के नीचे ट्रैक्टर श्रृंखला मार्च निकाला गया। इस दौरान रणवीर मुखिया, रॉबिन नागर, राजे प्रधान, मटरू नागर, गुलफाम, जीते गुर्जर, सुनील प्रधान, राजीव मलिक, विनोद पंडित, धर्मपाल, योगेश पंडित, पवन नागर, सुबेराम, धनीराम मास्टर, अनित कसाना, रजनीकांत अग्रवाल, योगेश भाटी, महेश खटाना, चंद्रपाल बाबू, भगत सिंह, इंद्रेश, लाल यादव, अजीत, रियासत, अनुज प्रधान, पीतम, सोनू बैसला, वीरेंद्र चपराना सहित अन्य मौजूद रहें। वहीं नोएडा में भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष अशोक भाटी के नेतृत्व में ट्रैक्टर श्रृंखला मार्च निकाला गया। किसानों के ट्रैक्टर मार्च को लेकर पुलिस ने चाक चौबंद व्यवस्था की है। किसानों के ट्रैक्टर मार्च के चलते यातायात पुलिस ने कई जगह रूट डायवर्ट किया है।
किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा, ‘ट्रैक्टर मार्च निकालने का कार्यक्रम तय किया गया है। हमने अलग-अलग तरीके से विरोध करने का फैसला लिया है ताकि सरकार हमारी बात सुने और किसानों को न भूले।’ किसान संगठनों द्वारा दिल्ली कूच का आह्वान किया गया है। दिल्ली पुलिस ने कालिंदी कुंज बॉर्डर पर बैरिकेडिंग लगाई है और लगातार वाहनों की जांच भी हो रही है। इसलिए यहां पर यातायात धीमी गति से चल रहा है। इससे यहां पर लोगों को काफी परेशानी हो रही है। लुहारली टोल प्लाजा एवं महामाया फ्लाईओवर पर ट्रैक्टर मार्च निकाला गया। कार्यक्रम के दौरान गौतमबुद्धनगर से दिल्ली सीमा लगने वाले सभी बार्डर पर बैरिकेड लगाकर दिल्ली पुलिस एवं गौतमबुद्ध नगर पुलिस द्वारा चेकिंग की जा रही है। ट्रैफिक डायवर्जन के कारण नोएडा से दिल्ली जाने वाले चालकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। कालिंदी कुंज, चिल्ला बार्डर, डीएनडी पर यातायात का दबाव रहा। यमुना एक्सप्रेस-वे से नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे होकर दिल्ली जाने वाले तथा सिरसा से परीचौक होकर सूरजपुर जाने वाले मार्ग पर सभी प्रकार के मालवाहक वाहनों का आगमन प्रतिबंधित रहा।