युग करवट ब्यूरो
गोरखपुर। गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर के बाहर पुलिस पर हमला करने वाले अहमद मुर्तजा अब्बासी के तार आतंकवाद से जुड़ते दिख रहे हैं, जिसके बाद मामले की गहन जांच शुरू हो चुकी है। पुलिस उसकी मदद करने वाले लोगों की धर-पकड़ के लिए छापेमारी कर रही है। पुलिस के हाथ मुर्तजा के दो साथी लगे हैं, जिन्होंने उसको मंदिर के पास तक छोड़ा था। फिलहाल गोरखपुर के आसपास के जिलों में छापेमारी जारी है। इसमें कुशीनगर 2 लोग, संत कबीरनगर से 1, महाराजगंज 2 लोग हिरासत में लिए गए हैं। इन लोगों से चैट बॉक्स के जरिए मुर्तजा बात करता था।
मुर्तजा गोरखनाथ मंदिर के बाहर कैसे पहुंचा, उसके पास वह हथियार कहां से आया? इसकी भी जांच जारी है। फिलहाल पुलिस ने महाराजगंज के रहने वाले दो लडक़ों को पकड़ा है। वे मुर्तजा के दोस्त हैं। उन दोनों ने ही मुर्तजा को अपनी मोटरसाइकल से गोरखनाथ मंदिर के बाहर छोड़ा था। एटीएस ने उनको महाराजगंज से हिरासत में ले लिया है। इनके अलावा भी छापेमारी में कुछ लोग पकड़े गए हैं, जिनसे पूछताछ जारी है। पकड़े गए लोगों में मिनहाज नाम का शख्स भी शामिल है। उससे एटीएस पूछताछ कर रही है। वह अंसार गजवातुल हिंद से जुड़ा है। मिनहाज को ब्रेन वाश करके आतंकी बनाने में महारथ हासिल है, ऐसा कहा गया है। अब सवाल उठ रहा है कि क्या मिनहाज ने ही मुर्तजा का भी ब्रेन वॉश किया था? यूपी एटीएस मुर्तजा अब्बासी और मिनहाज के कनेक्शन की जांच कर रही है।