युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। लिंक रोड थाने के एसएचओ ब्रिजेश कुमार सिंह की टीम ने नेपाल में रहने वाले बदमाशों के अन्तर्राष्ट्रीय गैंग के ५ शातिर बदमाशों को गिरफ्तार करके एक और सनसनीखेज वारदात होने से बचा ली। पुलिस ने गैंग लीडर व उसके ४ साथी बदमाशों के से कपड़ा कारोबारी के यहां से लूटा गया लाखों का माल व नशे की गोलियों की खेप के अलावा अन्य सामान बरामद किये हैं। पूछताछ के दौरान बदमाशों ने नेपाल और भारत के कई प्रदेशों में लूट व चोरी की दो दर्जन से अधिक वारदातों को अंजाम देना भी स्वीकार किया है। इस संदर्भ में एसपी सिटी द्वितीय ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि लगभग पंद्रह दिन पूर्व नेपाल निवासी किशन बहादुर उर्फ कृष्णा लिंक रोड थाना क्षेत्र की रामाप्रस्था कॉलोनी के डी ब्लॉक में रहने वाले कपड़ा कारोबारी अजय कुमार के यहां घरेलू नौकर के रूप में कार्य किया था। ९ तारीख को अजय और उनकी पत्नी वृंदावन व आगरा चले गये। उसी समय किशन बहादुर ने अपने चार और साथी बदमाशों भरत बहादुर, जय बहादुर, विजय बहादुर व हरीश को भी गांधीनगर दिल्ली में कपड़े का कारोबारी करने वाले अजय कुमार की कोठी पर बुला लिया। उसके बाद उन्होंने लूट अथवा चोरी की योजना बनाकर अपने पास मौजूद नशे की कई गोलियां कोठी पर मौजूद कोराबारी के दोनों बच्चों को खिला दी। जिससे एक पुत्र तो पूरी तरह से बेसुध हो गया, लेकिन दूसरा पुत्र पूरी तरह से अचेजन नहीं हुआ। दोनों के बहोश हो जाने की पुष्टïी करने के बाद पांचों बदमाशों ने कोठी को खंगालना शुरू कर दिया, लेकिन इसी बीच थोड़ी सी चेतना अवस्था रखने वाले कारोबारी के पुत्र ने उनका मुकाबला करने के साथ-साथ शोर भी मचा दिया। कपड़ा कारोबारी की सूझ-बूझ व साहस के चलते न केवल एक बदमाश उसी समय पुलिस के हत्थे चढ़ गया, बल्कि करोड़ों की लूट अथवा चोरी की घटना भी होते-होते बच गई। लेकिन ४ बदमाश कोठी में रखे लाखों के जेवरात व हजारों की नगदी के अलावा अन्य कीमती सामान लूटकर भाग गये। श्री सिंह ने बताया कि एसएचओ लिंक रोड ब्रिजेश कुमार सिंह ने त्वरित कार्रवाई करते हुए न केवल पूरे नेपाल भागने से पूर्व ही पूरे गैंग को पकड़ लिया बल्कि लूटा गया लाखों का माल भी बरामद कर लिया।