युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। जागृति मंच एवं गीताजंलि वेलफेयर एजुकेशनल ने निराश्रित महिलाओं के लिए आश्रय गृह की मांग को लेकर डीएम के माध्यम से सीएम के नाम ज्ञापन सौंपा। वेलफेयर की महिला सदस्यों ने कहा कि महिलाओं में असुरक्षा की भावना बढ़ रही है। आबादी बढ़ रही है लेकिन महिलाओं की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं है। ऐेसे में सबसे अधिक मुश्किलें उन महिलाओं को आ रही हैं जो विधवा, निराश्रित, पूर्व कैदी, एड्स से पीडि़त, आंतकी घटना से पीडि़त, पारिवारिक कलह से पीडि़त, गैर कानूनी कार्यों में जबरदस्ती शामिल महिलाओं को आश्रय गृह बनवाया जाए। जिसमें ऐसी पीडि़ताओं के लिए मूलभूत सुविधाओं से लेकर उन्हें स्वावलम्बी बनाने के लिए ट्रेनिंग कार्यक्रम आयोजित किए जाएं। वेलफेयर पूर्व में भी इस तरह की मांग कर चुकी है।
उन्होंने कहा कि निराश्रित महिलाओं के लिए सरकार की ओर सुविधाएं दी जा रही है। निराश्रित महिलाओं को मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल रही है। डीएम ने महिलाओं को इस संबंध में पहल करने का आश्वासन दिया है। ज्ञापन देने वालों में मंच से रेखा चौधरी, वेलफेयर से वन्दना चौधरी, किरन पोपली, कुशल राणा, उषा शुक्ला, जानकी पाटिल, रमा गुप्ता आदि मौजूद रहे।