पटना। बिहार में राजनीतिक उथल-पुथल के बीच भारतीय जनता पार्टी ने पूरे प्रदेश में धरना प्रदर्शन किया। नितीश कुमार के शपथ ग्रहण की तैयारियों के बीच बिहार में उनके मुर्दाबाद के नारे लगे। भारतीय जनता पार्टी ने नीतीश कुमार के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन छोडऩे को विश्वासघात बताते हुए इसके खिलाफ आज सभी जिला मुख्यालयों में धरना-प्रदर्शन किया है। नीतीश कुमार के महागठबंधन में शामिल होने पर भाजपा ने राज्य व जिला मुख्यालयों में धरना दिया है। इसमें नीतीश कुमार पर जनादेश का अपमान करने का आरोप लगाया गया। मुर्दाबाद के नारे भी लगाए गए। बिहार के राजनीतिक गलियारे में इस बात की चर्चा तेज है कि नीतीश कुमार कांग्रेस की अगुवाई वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन के संयोजक बन सकते हैं। जदयू के नेता लगातार इस बात के संकेत देे रहे हैं कि नीतीश कुमार केंद्र की राजनीति की ओर रुख कर सकते हैं। अब कांग्रेस और राजद के नेता भी इसी अंदाज वाले बयान देने लगे हैं। खबरों के अनुसार शपथ से पहले नीतीश कुमार गृह विभाग के लिए अड़ गए हैं। बताया जा रहा है कि इसपर आरजेडी से बातचीत चल रही है। नीतीश कुमार के नए गठबंधन में शामिल होने के विरोध में भारतीय जनता पार्टी ने आंदोलन शुरू कर दिया है। भाजपा का कहना है कि नीतीश कुमार ने बिहार की जनता से विश्वासघात किया है। पटना में भाजपा के प्रदेश मुख्यालय के सामने पार्टी के तमाम बड़े नेता और कार्यकर्ता धरना देकर अपने विरोध का इजहार कर रहे हैं। नीतीश कुमार आज तेजस्वी यादव के साथ मिलकर महागठबंधन की नई सरकार बना रहे हैं। नई सरकार के समक्ष चुनौतियां भी होंगी। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की नजर टेढ़ी हो सकती है।