युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। गाजियाबाद जिले में कोविड के केस अभी भी काफी आ रहे हैं। कल भी 95 लोग कोविड संक्रमित मिले हैं। अभी भी जिले में 900 से अधिक कोविड संक्रमण के एक्टिव केस हैं। जब तक एक्टिव केसों की संख्या 600 पर नहीं होगी, तब तक गाजियाबाद में लॉकडाउन की पाबंदियां रहने वाली हैं। संक्रमण के मामले कम हों, इसके लिए पहले से ही वार्ड स्तर पर बनी निगरानी समिति को एक्टिव किया जा चुका है। ऐसे में तालमेल की कमी हो सकती है। इसी को दूर करने के लिए आज चार बजे महानगर की निगरानी कमेटी की बैठक होगी। इसमें मेयर आशा शर्मा और नगर आयुक्त हिस्सा लेंगे। वर्चुवल प्रदेश के सभी महानगरों की निगरानी कमेटियों को जोड़ा जाएगा। दरअसल, गाजियाबाद सहित कई जिलों में लॉकडाउन लगा हुआ है। प्रशासन काफी प्रयास कर रहा है कि संक्रमण के मामले कम हो जाएं। प्रशासन ने पहले ही वार्ड स्तर पर निगरानी समिति बनाई हुई है। निगरानी समिति के अध्यक्ष वार्ड के पार्षद हैं। एक दिन पहले ही शहर से कोरोना महामारी दूर करने के लिए डीएम ने नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर को जिम्मेदारी सौंपी है।ऐसे में अब एक बार फिर से वार्ड स्तर पर बनी निगरानी कमेटी को एक्टिव किया जा रहा है। इसी के चलते आज वर्चुअल बैठक होने जा रही है। इस वर्चुअल बैठक से सभी महानगरों को जोड़ा जाएगा, जहां लॉकडान लगा हुआ है।
यह बैठक चार बजे होगी। इसमें सभी एक सौ वार्डों के पार्षदों को ऑनलाइन जोड़ा जाएगा। मेयर और नगर आयुक्त भी इसमें मौजूद होंगे। इसको प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल संबोधित करेंगे। नगर निगम ने अपने सभी पार्षदों को इस वर्चुअल बैठक में शामिल करने के लिए पहले ही लिंक भेज दिया है। सभी से बैठक में शामिल होने का निवेदन किया गया है।