प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। कोई भी राजनैतिक पार्टी हो, किसी के भी पार्षद अब नगर निगम ऑफिस में दिखाई नहीं देते हैं। अब नगर निगम में आम लोगों का भी आना काफी कम हो गया है। इससे अब नगर निगम के अधिकारी भी टेंशन फ्री हो गए हैं। अब नगर निगम का चुनाव होने जा रहा है। इसके लिए जल्दी ही तैयारी जोरों पर चल रही हैं। इसी क्रम में वार्ड और मेयर पद के लिए आरक्षण घोषित हो चुका है। आपत्तियों के दर्ज करने का सिलसिला चल रहा है। आपत्तियों के साथ साथ लगभग तमाम पार्टियों के पार्षद अब टिकट पाने या अपने किसी को चुनाव लड़ाने की तैयारी में लगे हैं। माना जा रहा है कि कई ऐसे पार्षद हैं जिन्हें लग रहा है कि उनका टिकट फाइनल है। ऐसे में वह अभी से ही प्रचार की कोशिश में लग गए हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा नगर निगम के अधिकारियों को मिल रहा है। नगर निगम का कोई भी ऐसा विभाग नहीं है जहां कोई पार्षद अब दिखाई देता हो। तमाम पार्षद अब चुनाव की प्रक्रिया में व्यस्त हैं।