प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। नगर निगम ने प्राइवेट कंपनी द्वारा तैयार नोटिस का वितरण शुरू कर दिया, इससे आम लोग परेशान हैं। हालांकि, नगर निगम इन नोटिसों पर आपत्तियां दर्ज कराने वाले लोगों की सुनवाई कर रहा है। मगर यह सुनवाई भी अब रुक गई है। नगर निगम अब तेजी से हाउस टैक्स के नए नोटिस का वितरण कर रहा है। इसका नगर निगम बोर्ड की बैठक में विरोध भी हो चुका है। इसके बाद भी नगर निगम नोटिस के वितरण का कार्य कर रहा है। हालांकि, नोटिस में लिखा गया है कि अगर किसी को कोई आपत्ति है तो वह एक महीने के अंदर उसे दर्ज करा सकता है। इससे पहले भी नगर निगम ने आपत्तियां मांगी थीं। करीब 1300 से अधिक आपत्तियां आई भी थीं, जिनका नगर निगम प्रशासन की ओर से अभी तक निस्तारण नहीं किया गया। हालांकि, हाल ही में आपत्तियों का निस्तारण करने के लिए सिटी जोन में एक दिन जनसुनवाई हुई थी। इसके बाद से फिर सुनवाई बंद हो गई है, जिससे आम लोग परेशान हैं। लोग बढ़े हुए आए नोटिसों को लेकर अब नगर निगम के जोनल ऑफिस के चक्कर काट रहे हैं।