युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। वार्ड-53 के कांग्रेसी पार्षद मनोज चौधरी नगर निगम में व्याप्त भ्रष्टाचार और तानाशाही के विरोध में आज से एम-ब्लॉक पार्क में अनिश्चितकाली धरने पर बैठ गए हैं। पार्षद का कहना है कि आज भगवान भोलेनाथ के पहले सावन के सोमवार के दिन से वे धरना शुरू कर रहे हैं। भगवान भोलेनाथ नगर निगम के अधिकारियों को सद्बुद्घि प्रदान करें। पार्षद का कहना है कि क्या कोई अधिकारी सन् 2008 में यूपी सरकार द्वारा बनाई गई विज्ञापन पॉलिसी के खिलाफ जाकर अपनी मनमर्जी से किसी कंपनी को कितने भी साल का ठेका दे सकता है? जब सदन में तय हुआ कि महापौर की अध्यक्षता में कमेटी बनेगी और वह विचार करेगी कि क्या दो साल से ज्यादा विज्ञापन का ठेका किसी कंपनी को दिया जा सकता है? पार्षद मनोज चौधरी का कहना है कि इसके बावजूद भी नगरायुक्त ने कमेटी क्यों नहीं बनाई? पार्षद का कहना है कि उन्होंने सुझाव दिया था कि कंपनियों को मालामाल करने के बजाए नगर निगम चुनाव में विज्ञापन खुद लगाएं। ऐसे में नगर निगम की आय भी कई गुना बढ़ सकती है। कंपनी दो जगह काम कर रही है और उसका रिकॉर्ड भी अच्छा नहीं है। आगरा और देहरादून में कंपनी पर केस चल रहे हैं। पार्षद का कहना है कि संजय नगर और एम ब्लॉक में नालों को खुला छोड़ दिया गया है। शुरू में इसकी वजह सफाई करना बताई गई थी। यह नाला करीब आठ फुट गहरा है और इसकी वजह से कभी भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है। पार्षद मनोज चौधरी का कहना है कि आज आंदोलन की शुरूआत हो चुकी है। जिस दिन जनता का सैलाब उमड़ा, अधिकारियों को कुर्सी भी छोडऩी पड़ सकती है। आज पहले दिन धरने पर विनोद चौधरी, लीलाधर मिश्रा, राजेंद्र, गुरुवचन सुबेदार, रामवीर सिंह, मधु तिवारी, बीके शर्मा, रमेश कौशिक, राजेंद्र पंडित, संजय सिंह पटेल, सोमवीर चौधरी, सुनील चौधरी, राजेंद्र मोहन सिंह, रमेश लाला जी, राजेंद्र पंडित व देवी सिंह आदि मौजूद रहे।