युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। घंटाघर के पास भारती मेडिकल स्टोर गली में रातोरात पांच दुकान बन गई। जहां दुकान बनी है वह वर्षों से जमीन खाली पड़ी थी। माना जा रहा है कि यह जमीन सरकारी है। हो सकता है कि निगम के पास इस जमीन का स्वामित्व हो। घंटाघर के पास व्यवसायिक एरिया है। यहां एक एक ईंच जमीन की भी कीमत है। इसी के चलते लोगों की नजर निगम की खाली जमीन पर रहती है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है। पता चला कि यहां खाली पड़ी एक जमीन पर रातोरात पांच दुकान बनकर तैयार हो गई। लंबे समय से यह जमीन खाली पड़ी हुई थी। दुकान बन जाने के मामले के सामने आने के बाद निगम पर गंभीर आरोप लगाए जा रहे है। कुछ लोगों का कहना है कि जिस जमीन पर दुकान बनी है वह जमीन नगर निगम की बेसकीमती जमीन है। आरोप यह भी है कि यह दुकान एक प्रभावशाली व्यक्ति और निगम की मिलीभगत से बनी है। वहीं दूसरी और निगम के जोनल प्रभारी सुधीर शर्मा ने बताया कि जिस जमीन पर दुकान बनी है। उसकी जांच की गई है। यह पूरी जमीन वक्फ बोर्ड की बताई गई है। इस जमीन पर वक्फ बोर्ड की ओर से ही दुकान बनाई गई है।