युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। बीजेपी के एक नेता ने निगम से ली गई लीज की जमीन पर पक्का निर्माण कर लिया। रमतेराम रोड स्थित यह जमीन कई करोड़ रुपये की है। इस मामले की शिकायत मिलने के बाद अब नगर निगम प्रशासन एक्शन में आ गया है। निगम के प्रॉपर्टी विभाग ने अब जांच शुरू कर दी है। पता चला कि बीजेपी के एक तत्कालीन पार्षद ने 1996 में एक प्रस्ताव निगम बोर्ड की बैठक में पेश किया था। प्रस्ताव में भाजपा पार्षद ने निगम से लीज पर जमीन देने का निवेदन किया था। उस समय मेयर दिनेश चंद्र गर्ग थे। निगम सदन में बीजेपी का बहुमत था। यह प्रस्ताव पास हो गया। करीब 2200 वर्ग मीटर जमीन पर बाद में नगर निगम ने भाजपा के तत्कालीन पार्षद की संस्था को कब्जा दे दिया। शर्त थी कि नगर निगम के निर्माण में कब्जाधारक फेर बदल नहीं करेंगे। न ही पक्का निर्माण करेंगे। अब निगम प्रशासन को शिकायत मिली कि पहले बीजेपी के नेता ने ग्राउंड फ्लोर पर पक्का निर्माण कर लिया। अब इसके पहले फ्लोर पर निर्माण कार्य किया जा रहा है। इस प्रकरण का निगम को तब पता चला जब कुछ लोगों ने निगम के अधिकारियों से इसकी मौखिक शिकायत की। निगम के प्रॉपर्टी विभाग ने इस प्रकरण की अब चुपचाप जांच शुरू कर दी है।