– पार्षद त्यागी ने सीएम से की शिकायत –
युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। निगम से बिना एनओसी लिए क्रोसिंग रिपब्लिक प्राइवेट लिमिटेड सहित कई बिल्डरों द्वारा सरकारी करोड़ों की जमीन पर नक्शा पास कराने के मामले ने तूल पकड़ लिया। बीजेपी के वरिष्ठ नेता पार्षद राजेन्द्र त्यागी ने जीडीए की शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की है। शिकायती पत्र में त्यागी ने आरोप लगाया कि जीडीए से सांठगांठ कर क्रोसिंग रिपब्लिक के भूखंड जीएच-1 पंचशील बिल्डर, जीएच-12 एसोटैक बिल्डर व जीएच-14 सुपरटेक बिल्डर के नक्शे जीडीए ने नियमों को ताक पर रखकर स्वीकृत करा दिए। जिन भूखंड़ों के नक्शे पास कराए है उनमें गांव डूंडाहेड़ा की सरकारी और किसानों की प्राइवेट जमीन पर जीडीए से सांठगांठ कर बिल्डरों ने नक्शा पास करा लिया है।
जीडीए ने नक्शे पास करते वक्त नगर निगम से एनओसी तक नहीं ली। इसी के चलते निगम की कई सौ करोड़ रुपये की जमीन पर बिल्डरों ने नक्शा पास कर अपनी बिल्डिंग खड़ी कर दी। बिल्डरों ने गांव डूंडाहेड़ा के सरकारी रास्तों को भी कब्जा लिया। जिन बिल्डरों पर निगम की जमीन कब्जा कर बिल्डिंग के नक्शे पास कराने का आरोप है इनमें महागुन, सुपरटैक, पंचशील वैलिंग्टन, गार्डेनिया स्कवायर, पैरामाउंट, प्रतीक बिल्डर, एसोटेक बिल्डर, सैम रैजिडेंसी, स्काईटेक, बुलंदहाईट्स बिल्डर शामिल है। मुख्यमंत्री से शिकायती पत्र में त्यागी ने कहा कि क्रॉसिंग रिपब्लिक का नक्शा 350 एकड़ में पास किया। इसमें काफी अनियमितता बरती गई।
बिल्डर को अस्पताल, फायर स्टेशन, सरकारी स्कूल की सुविधा देनी थी। मगर वह भी नहीं दी गई है। पार्षद त्यागी ने मुख्यमंत्री से भ्रष्टï जीडीए के अधिकारियों और सरकारी जमीन पर नक्शा पास कराने वाले बिल्डरों के खिलाफ जांच कराने और एक्शन लेने की मांग की है।