प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। निगम कर्मचारी संघ और निगम प्रशासन के बीच एक बार फिर टकराव होने के आसार बढ़ गए हैं। नगर निगम की ओर से नगर निगम कर्मचारी संघ के अध्यक्ष रवीन्द्र कुमार सहित 18 कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। हालांकि, यह नोटिस अभी किसी भी कर्मचारी के पास नहीं पहुंचा है। मगर इन नोटिसों के रिसीव करने से पहले ही नगर निगम कर्मचारी संघ अब नगर निगम प्रशासन के खिलाफ नई रणनीति तैयार करने में लगा है। विवाद मोहननगर जोन ऑफिस और उसके पास बने आवासीय एरिया में बिजली के कनेक्शन काटने को लेकर पैदा हुआ। दरअसल बिजली विभाग ने बकाया अदा नहीं करने के मामले में कार्रवाई करते हुए मोहननगर जोन ऑफिस और उसके पीछे बने आवासीय एरिया का बिजली का कनेक्शन काट दिया। इसके बाद नगर निगम कर्मचारी संघ के अध्यक्ष रवीन्द्र कुमार की अगुवाई में बिजली कनेक्शन जुड़वाने की मांग को लेकर मोहननगर जोनल ऑफिस पर धरना प्रदर्शन किया गया। आनन-फानन में नगर निगम ने कुछ पैसा बिजली विभाग को अदा कर दिया और बिजली कनेक्शन जुड़वा दिया। विवाद तब पैदा हुआ जब निगम के सीनियर अधिकारियों ने जोनल प्रभारी से जवाब मांगा कि उन्होंने कैसे बिजली विभाग को डायरेक्ट भुगतान कर दिया, जबकि दोनों ही विभागों की ओर से जो बिल होते है उनका समायोजन शासन स्तर पर किया जाता है। इस मामले में खुद को फंसता देख जोनल प्रभारी राजबीर सिंह की ओर से नगर निगम कर्मचारी संघ के अध्यक्ष रवीन्द्र कुमार, एक अन्य पदाधिकारी राकेश यादव, आदि 18 कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।