प्रमुख संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। दो विभागों में चली जंग का पटाक्षेप आधीरात डीएम आरके सिंह ने आधी रात को किया। उनके हस्तक्षेप के बाद ही साईं उपवन स्थित साईं बाबा मंदिर कांवड़ सेवा शिविर का काटा गया बिजली का कनेक्शन जुड़ पाया। तब कहीं जाकर निगम के अधिकारियों और शिविर संचालकों को राहत मिली।
दो विभागों के बीच जंग में कटा बिजली कनेक्शन
बिजली विभाग और नगर निगम के बीच चली आ रही जंग में एक बार फिर से कल उजागर हो गई। कल सायं के समय अचानक से बिजली विभाग की टीम साईं उपवन में चल रहे नगर निगम के कांवड़ सेवा शिविर पहुंची और बिजली कनेक्शन काट दिया। बिना किसी नोटिस के की गई इस कार्रवाई के बाद निगम अधिकारियों के होश उड़ गए।
ऑफिस तोड़ ने का बदले में बिजली कनेक्शन कटा दिया!
बिजली विभाग की अचानक से निगम पर हुई यह कार्रवाई अब चर्चा का विषय बनी हुई है। निगम के कई कर्मियों का मानना है कि बिजली विभाग ने साईं बाबा मंदिर कांवड़ सेवा शिविर का बिजली कनेक्शन जानबूझकर बदले की भावना से काटा है। दरअसल गत दिनों नगर निगम ने नवयुग मार्केट में बने एक नाले को पाट कर बनाए जा रहे बिजली विभाग के निर्माणाधीन ऑफिस को निगम की टीम ने तोड़ दिया। आशंका है कि इसी के बाद कल देर सायं बिजली विभाग ने निगम का बिजली कनेक्शन काट कर बदला ले लिया।
अधिकारियों के पत्र का नहीं हुआ असर
अपर नगर आयुक्त शिवपूजन यादव ने बिजली कनेक्शन जोडऩे के लिए विद्युत वितरण खंड सात के अधिशासी अभियंता को पत्र लिखा। उनसे बिजली कनेक्शन जोडऩे का अनुरोध किया। मगर इसका भी कोई असर नहीं हुआ। बाद में जब निगम अधिकारियों ने बिजली विभाग के अधिकारियों से संपर्क किया तो कहा गया कि कनेक्शन तब ही मिलेगा जब सेफ्टी के लिए निगम एनओसी जमा करेगा। निगम का कहना था कि रात में एनओसी कहां से लाए।
मामला डीएम तक पहुंचा
जब बिजली कनेक्शन नहीं जुड़ा तो विवाद डीएम आरके सिंह तक पहुंच गया। डीएम आरके सिंह ने इस मामले में बिजली विभाग को निर्देश दिया कि वह तुरंत बिजली कनेक्शन रिलीज करें। इसके बाद ही रात में करीब दो बजे फिर से बिजली विभाग ने निगम के साईं बाबा कांवड़ सेवा शिविर का कनेक्शन जोड़ा। इसके बाद निगम अधिकारियों ने राहत की सांस ली।