नगर संवाददाता
गाजियाबाद(युग करवट)। हाल ही में जम्मू के मेयर ने गाजियाबाद नगर निगम की कार्यशैली देखी। लेकिन, निगम द्वारा जम्मू के मेयर को शहर भ्रमण कराने को लेकर वरिष्ठ अधिवक्ता नाहर सिंह यादव ने सवाल उठाते हुए कहा कि बाहरी लोगों को शहर की असल तस्वीर मेयर और नगर निगम अधिकारियों को दिखानी चाहिए। नगर निगम की कार्यशैली पर सवाल खड़े करते हुए नाहर सिंह यादव ने कहा कि जम्मू के मेयर को सिर्फ वही स्थान दिखाए गए जो पहले ही साफ कर दिए गए थे, जबकि शहर की पॉश मानी जाने वाली दयानंद नगर कॉलोनी नहीं दिखाई, जहां गंदगी की भरमार है। इस कॉलोनी में नाली और सीवर गंदगी से अटे पड़े हैं। यहां सफाई करने निगम के कर्मचारी भी कभी कभार ही पहुंच पाते हैं और स्थानीय लोगों का गंदगी से जीना मुहाल हो गया है। उन्होंने आरोप लगााते हुए कहा कि शहर के चंद हिस्से दिखाकर मेयर और निगम अधिकारी झूठी वाहवाही लूट रहे हैं। जबकि, दयानंदनगर ही नहीं, बल्कि शहर की दर्जनों कॉलोनियां गदंगी से अटी हुई हैं। बाहरी लोगों को शहर की असल तस्वीर दिखानी चाहिए, ताकि वे उसका मॉडल अपने यहां लागू कर सकें।

शहर को निगम ने गंदगी के ढेर पर बैठा रखा है और झूठी तस्वीर दिखाकर बाहरी लोगों से वाहवाही लूटी जा रही है। नाहर सिंह यादव ने निगम व मेयर को आईना दिखाते हुए कहा कि अधिकारी और मेयर अपनी पीठ थपथपाने के बजाए शहर को स्वच्छ बनाने पर ध्यान दें तो बेहतर होगा।