युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। सिहानी गेट थाना क्षेत्र अंतर्गत नासिरपुर गांव में गनशॉट के दौरान घायल हुए ४७ वर्षीय देवेंद्र ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।
मृतक के परिजनों के द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर पुलिस ने हत्या के प्रयास की धारा को हत्या की धारा में बदल दिया। इसके बाद सिहानी गेट थाने के एसएचओ मिथलेश उपाध्याय के नेतृत्व में बनाई गई पुलिस की कई टीम ने नामजद पिता-पुत्रों की गिरफ्तारी के लिये अभियुक्तों के घर व उनके ठिकानों पर दबिश दी। समाचार लिखे जाने तक एसएचओ मिथलेश उपाध्याय टीम के साथ दबिश मारने जा रहे थे।
उक्त जानकारी देते हुए एसपी सिटी प्रथम निपुण अग्रवाल ने बताया कि नासिरपुर गांव में देवेंद्र, जीतू, बंटी व सुमित लूडो खेल रहे थे, उसी समय नासिरपुर गांव का ही जगमाल नामक दबंग एवं अपराधिक प्रवृत्ति वाला व्यक्ति अपने पुत्र मोहित एवं हिमांशु के साथ वहां पहुंच गया। इसके बाद थोड़ी सी कहासुनी होने पर मोहित ने तमंचे से देवेंद्र के सिर में गोली मार दी। श्री अग्रवाल ने बताया कि गोली मारने के बाद जब जगमाल व उसके पुत्र वहां से चले गये, तो गंभीर हालत में देवेंद्र को यशोदा अस्पताल ले जाया गया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। श्री अग्रवाल ने बताया कि जगमाल पहले भी मर्डर केस में जेल जा चुका है।