युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। ठेकेदारों के भरोसे इस बार शहर में नालों की सफाई नहीं होगी। दरअसल ठेकेदार नालों की सफाई के टेंडर खरीदने को तैयार नहीं है। निगम प्रशासन की ओर से हाल ही में दूसरी बार 66 नालों की सफाई कराने के लिए निगम ने टेंडर मांगे थे। मगर इस बार भी एक भी ठेकेदार ने नगर निगम के नालें की सफाई के लिए टेंडर खरीद नहीं की है।
शहर में हर वर्ष नगर निगम नालों की सफाई कराता है। इस बार नगर निगम ने सभी बड़े नालों की सफाई का कार्य प्राइवेट ठेकेदारों से कराने का फैसला लिया है। मगर इसको लेकर ही अब नगर निगम बुरा फंस गया। नगर निगम के हेल्थ विभाग की ओर से दो बार नालों की सफाई के लिए टेंडर मांगे गए हैं। मगर एक बार भी ठेकेदारों ने नालों के टेंडरों की खरीद नहीं की है। दूसरी बार नगर निगम ने नालों के टेंडर मांगे थे। इससे पहले सात दिन पहले भी नालों की सफाई के लिए टेंडर मांगे गऐ। ठेकेदारों ने टेंडर नहीं खरीदे है। ऐसे में अब निगम का हेल्थ विभाग परेशान है कि आखिर कैसे नालों की सफाई बरसात से पहले हो।