युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। लोहिया नगर स्थित हिंदी भवन में उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी लखनऊ एवं हिंदी भवन समिति द्वारा पांच दिवसीय नाट्य समारोह का आयोजन किया जा रहा है। इस नाट्य समारोह के दूसरे दिन ‘जहर’ नाटक का मंचन किया गया, जिसमें जीवन की वास्तविक कठिनाईयों को दर्शाया गया।
नाटक का शुभारंभ विधिवत दीप प्रज्जवलन के साथ किया गया। इसके उपरांत पंकज सोनी द्वारा लिखित नाटक ‘जहर’ का मंचन नाट्य वास्तु सांस्कृतिक एवं सामाजिक संस्था के कलाकारों ने किया। यह नाटक प्रेम विवाह करने वाले युगल के वास्तविक जीवन में आने वाली कठिनाइयों को दिखाता है। किस प्रकार एक व्यक्तिअपने जीवन में एक मुकाम हासिल करने के लिए संघर्ष करता है, परंतु पारिवारिक जीवन की कटुता और दुखों के कारण इतना निराश हो जाता है कि अपनी पत्नी की हत्या करने तक को तैयार हो जाता है। नाटक में दिखाया गया कि व्यक्ति इंटरनेट पर खोजबीन कर, केमिस्ट के पास विशेष प्रकार का जहर खरीदने जाता है। परंतु जब केमिस्ट पूछता है कि वह जहर क्यों खरीदना चाहता है, तो उस वक्त ही बहाने बनाने लगता है। केमिस्ट बहुत ही स्मार्ट तरीकों और बातों में उलझ कर व्यक्ति से पूछ लेता है कि वह अपनी पत्नी को मारने के लिए जहर खरीदना चाहता है।
यही नहीं केमिस्ट बातों-बातों में व्यक्ति के निजी जीवन की बातें भी जान लेता है क्योंकि केमिस्ट बहरा है सुनता कुछ और बोलता कुछ और है, जिस कारण नाटक में हास्य का पुट भी बराबर बना रहता है। इस नाटक के जरिए संदेश दिया गया कि जीवन में छोटी-छोटी बातें बड़ा रूप न ले इसके लिए एक दूसरे की भावनाओं का सम्मान करना आवश्यक है। नाटक का मुख्य किरदार महेन्द्र धूरिया ने निभाया है, तो वहीं केमिस्ट का किरदार निदेशक प्रवीण ने निभाया है, जिनके हास्य लगातार पूरे नाटक में दर्शकों को बांधे रखते हैं। नाटक का निर्देशन एवं प्रकाश शुभी मेहरोत्रा, संगीत शिवेन्द्र त्रिवेदी, प्रस्तुति प्रबंधक अश्वनी द्वारा की गई।
इस अवसर पर मौजूद शहर विधायक अतुल गर्ग ने नाट्य मंचन के लिए कलाकारों को बधाई देते हुए कहा कि शहर में इस तरह की गतिविधियां सांस्कृतिक माहौल को बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। इस तरह के आयोजन होते रहने से लोगों में थियेटर के प्रति जागरूकता बढ़ेगी। उन्होंने मंचन से जुड़े कलाकारों को स्मृति चिन्ह प्रदान किए। इस अवसर पर दर्जा प्राप्त मंत्री बलदेव राज शर्मा, सीएमओ डॉ. भवतोष शंखधर, हिंदी भवन समिति के अध्यक्ष ललित जायसवाल, यूपी संगीत एकेडमी की नाट्य सर्वेक्षक शैलजा कांत, जेपी सिंह, समिति के महासचिव सुभाष गर्ग, दिव्यांशु आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन पूनम शर्मा ने किया।