गाजियाबाद (युग करवट)। ओजस्वी कवि कृष्ण मित्र का आज सुबह अस्पताल में निधन हो गया। वह काफी समय से बीमार थे और अस्पताल में भर्ती थे जहां आज सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके निधन से साहित्य जगत में शोक की लहर दौड़ गई। उनके निधन की खबर सुनने के बाद सहित्यिक, राजनीतिक व अन्य क्षेत्र से जुड़े गणमान्य लोग उन्हें श्रद्घांजलि दे रहे हैं।
कभी लाल किले की प्राचीर से वीर रस के कवि कृष्ण मित्र की गंूजने वाली आवाज आज शांत हो गई है। आज सुबह अस्पताल में बीमारी के चलते उनका निधन हो गया। उनके निधन से गाजियाबाद ही नहीं, बल्कि देश भर में साहित्य के क्षेत्र को भारी क्षति पहुंची हैं। वह पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे थे और अस्पताल में भर्ती थे।
आज सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली और इसी के साथ ही ओजपूर्ण कविताओं के लिए विख्यात कवि दुनिया को अलविदा कह गए। लाल किले पर काव्य पाठ कर चुके कृष्ण मित्र ने दुनिया के कई देशों के कवि सम्मेलनों में शहर का नाम रोशन किया है।