गाजियाबाद (युग कवरट)। ट्रोनिका सिटी थाना क्षेत्र के अंतर्गत सिग्नेचर सिटी में स्थित न्यू सोलंकी फाउंडेशन के नाम से संचालित नशामुक्ति केंद्र में उपचार करवाने आये लगभग ४० मरीज दस-ग्यारह दिन पहले रहस्यमय हालात में लापता हो गये थे। वहीं, उक्त घटना की सूचना देते हुए नशामुक्ति केंद्र के संचालक अनिल कुमार ने पुलिस को बताया कि नशे से मुक्ति का उपचार करवा रहे पांच-छह मरीज वालिंटियर का काम कर रहे लोगों के साथ मारपीट करने के बाद उनपर जानलेवा हमला बोलकर वहां से भाग गये। 10-11 दिन पहले हुई इस घटना के संदर्भ में एसपी देहात डॉ. इरज राजा ने बताया कि इस प्रकरण की रिपोर्ट दर्ज करके रहस्यमय हालात में लापता हुए नशा प्रवृत्ति से पीडि़त मरीजों की बरामदगी के लिये एसएचओ ट्रोनिका सिटी के नेतृत्व में पुलिस की कई टीम बनाई गई हैं। श्री राजा ने कहा कि अभी तक पुलिस को केवल पांच-छह मरीजों के नशा मुक्ति केंद्र से भागने की ही सूचना मिली है। रही बात तीस-चालिस नशा पीडि़त व्यक्ति के फरार होने की, तो वो इसकी भी जांच करवायेंगे। पुलिस इस प्रकरण की गुत्थी सुलझाने के लिये कई ऐंगल पर जांच कर रही है। बता दें कि इससे पहले भी साहिबाबाद, टीला मोड़ और मसूरी थाना क्षेत्र में स्थित नशामुक्ति केंद्र व आश्रयस्थलों में इस प्रकार की घटनाएं घटित हो चुकी हैं।