कुछ में हुई हत्या की रिपोर्ट दर्ज तो कई की नहीं हुई शिनाख्त
प्रमुख अपराध संवाददाता
गाजियाबाद (युग करवट)। हालिया दिनों में बदमाश व हत्यारे कितने बेखौफ हो गये है इसका जीता जागता प्रमाण उस समय मिल गया कि जब जनपद के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में एक नवजात व नवविवाहिता समेत आधा दर्जन से अधिक लोगों के शव बरामद हुए। इन घटनाओं मेें तीन मामलों में जहां रिपोर्ट दर्ज हुई है वहीं कई की शिनाख्त नहीं हुई। पुलिस सभी मामलों में जांच कर रही है।
इंदिापुरम थाना क्षेत्र में एक युवक का शव जहां खोड़ा अण्डरपास के पास मिला वहीं प्रहï्लादगढ़ी गांव के मंदिर के मैदान में सो रहे ७० वर्षीय वृद्घ का शव मिला। इसके अलावा लोनी बॉर्डर थाना क्षेत्र में भी एक नवविवाहिता औ व्यक्ति की मौत हो गई। शिव वाटिका निवासी अरूण का शव नाले में पड़ा मिला।
रामप्रस्था कॉलोनी में रहने वाली शशी पत्नी मोनू नामक नवविवाहिता छत से गिरकर गई, जहां उसकी मौत हो गई। मृतका के भाई राजकुमार ने बहन के पति व ससुरालियों के खिलाफ दर्ज करवाई है। मसूरी थाना क्षेत्र अंतर्गत डीएमई के नीचे जहां एक नवजात का शव मिला वहीं नाहल झाल के पास गंगनहर में भी एक ज्ञात व्यक्ति का शव बरामद हुआ।
इसके लावा मसूरी थाना क्षेत्र की प्रधानपुरम कॉलोनी में रहने वाले तरूण त्यागी की मौत संदिग्ध परिस्थितियों में हो गई। इसके अलावा विजयनगर थाना क्षेत्र के मौहल्ला कैलाश नगर निवासी राजू का बीस वर्षीय पुत्र शाहिद २६ अप्रैल को रहस्यमय हालात में लापता हो गया था। उक्त वारदात की रिपोर्ट दर्ज करवाते हुए शाहिद के पिता ने अनिष्टï घटना के घटित होने व पुत्र की हत्या क दिये जाने की बात कहते हुए जुनैद व इरशाद पर शक जताया था। विजयनगर पुलिस ने जब दोनों संदिग्ध युवकों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि २६ अप्रैल को वो तीनों गंगनहर में नहाने गये थे। उस समय उन्होंने नशा किया था। नहाते समय शाहिद डूब गया था।