युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। नया बस अड्डा के पास स्थित मल्टीलेवल पार्किंग बनाने का रास्ता साफ हो गया है। यहां नगर निगम की पहले से ही बनी एक ट्यूबवेल इस प्रोजेक्ट के लिए परेशानी का शबब बनी हुई थी। नगर निगम ने इस ट्यूबवेल के स्ट्रक्चर को वहां से हटा दिया है। इसके साथ ही अब यहां मल्टीलेवल पार्किंग बनाने के कार्य के स्पीड पकडऩे की उम्मीद है। नया बस अड्डा मेट्रो स्टेशन के पास करीब बारह हजार वर्ग मीटर से अधिक जमीन पर मल्टीलेवल पार्किंग बनाने का कार्य चल रहा है। इस पार्किंग को बनाने के लिए करीब 39 करोड़ रुपया खर्च हो रहा है। इस पार्किंग को बनाने के लिए प्रदेश सरकार ने जल निगम की सीएंडडीएस युनिट को कार्य का आवंटन किया है।
युनिट के अधिशासी अभियंता आर तोमर ने बताया कि इस पार्किंग के बनाने का कार्य शुरू हो गया है। मगर इसके लिए सबसे बड़ी समस्या एक ट्यूबवेल की थी। इस ट्यूबवेल के स्ट्रक्चर को हटाने के लिए नगर निगम को कहा गया था। नगर निगम प्रशासन का कहना था कि पहले वह दूसरी जगह नई ट्यूबवेल लगाएगा। इसके बाद इस ट्यूबवेल के स्ट्रक्चर को हटाएगा।
जल विभाग का कहना है कि अब पानी की सप्लाई के लिए दूसरी जगह ट्यूबवेल लगाने का कार्य पूरा कर लिया गया है। इसके साथ ही अब इस मल्टीलेवल पार्किंग बनाने का कार्य पूरा हो गया है। मल्टीलेवल पार्किंग बनाने का कार्य अब और स्पीड से होने की संभावना है। राज्य स्मार्ट सिटी योजना के तहत मल्टीलेवल पार्किंग बनाने का कार्य चल रहा है। इस पार्किंग को कार्य शुरू होने के 36 महीने के अंदर पूरा करने का प्लान है। इसी के चलते जल निगम तेजी के साथ पार्किंग बनाने का कार्य कर रहा है।