युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। विज्ञापन का ठेका 15 वर्ष के लिए देने के मामले में प्रदेश सरकार ने नगर निगम से जवाब तलब किया है। यह जवाब नगर विकास विभाग स्थानीय निकाय निदेशालय की ओर से मांगा गया है। नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन के लखनऊ पहुंचते ही जिस तरह से नगर निगम से जवाब तलब किया गया है लगता है कि प्रदेश सरकार इस प्रकरण को गंभीरता से ले रही है।
हाल ही में नगर निगम ने 15 वर्ष के लिए विज्ञापन का ठेका छोड़ा है। इस ठेके के छोडऩे को लेकर विवाद पैदा हो गया है। विवाद के चलते ही काफी दिनों से बीजेपी पार्षद और नगर निगम के बीच घमासान चल रहा है। इसी के चलते अब मामला हाईकोर्ट भी पहुंच चुका है।
हाईकोर्ट में जल्दी ही इस प्रकरण में सुनवाई हो सकती है। नगर निगम से पहले ही हाईकोर्ट जवाब मांग चुका है। निगम प्रशासन की ओर से हाईकोर्ट में सुनवाई के लिए जवाब दाखिल किया जा चुका है। अब जिस तरह से शासन की ओर से इस मामले में जवाब मांगा गया है। इससे निगम प्रशासन की टेंशन और बढ़ गई है। इस मामले में निगम के किसी भी अधिकारी ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। उधर सूत्रों का दावा है कि जल्दी ही निगम इस प्रकरण में शासन को जवाब भेजने की तैयारी कर रहा है।