गाजियाबाद (युग करवट)। शहर के लोगों को अब प्राइवेट कंपनी द्वारा तैयार किए गए हाउस टैक्स के नोटिस के हिसाब से ही टैक्स अदा करना होगा। नगर निगम का कहना है कि जो इस बार नए नोटिस के हिसाब से हाउस टैक्स अदा नहीं करेगा उनसे बकाया टैक्स की वसूली अगले वर्ष बिल के साथ जोडक़र की जाएगी। अभी तक नगर निगम हाउस टैक्स के पुराने नोटिस के हिसाब से ही वसूली करता आ रहा था। हाल ही में नगर निगम प्रशासन की ओर से पूरे शहर में प्रॉपर्टी का सर्वे का कार्य कराया गया है। करीब 96 प्रतिशत हाउस का सर्वे का कार्य पूरा कर लिया गया है और बाकी प्रॉपर्टी के सर्वे का कार्य चल रहा है। अभी तक शहर में नगर निगम की ओर से 100 में से 23 वार्ड की प्रॉपर्टी के तैयार किए गए हाउस टैक्स के नए नोटिसों का सत्यापन किया जा चुका है।
इन वार्डों में नए नोटिस के हिसाब से ही अगले महीने से लोगों को हाउस टैक्स देना होगा। नगर निगम के कर निर्धारण अधिकारी डॉ. संजीव सिन्हा का कहना है कि नगर निगम हाउस टैक्स नए नोटिस के हिसाब से वसूल करेगा। जो अभी इन नोटिस के हिसाब से टैक्स नहीं देंगे उनसे बाद में बकाया में जोडक़र यह पैसा वसूल किया जाएगा।