गाजियाबाद (युग करवट)। आरआरटीएस के दो स्टेशन गुलधर व दुहाई में आने-जाने के लिए जमीन कम है। ऐसे में अब संबंधित खसरों की जमीन के अधिग्रहण के लिए एक प्रस्ताव तैयार कर मंजूरी के लिए मंडलायुक्त के पास पत्रावली भेजी गई है। माना जा रहा है कि जल्दी ही मंडलायुक्त की अनुमति मिलने पर संबंधित जमीन का अधिग्रहण कर आरआरटीएस संबंधित किसानों को निर्धारित मुआवजा देकर समस्या को दूर कर देगा। दिल्ली से मेरठ तक बनाए जा रहे हाईस्पीड ट्रेन के कॉरिडोर के लिए पहले चरण में चार स्टेशनों का निर्माण किया जा रहा है। इनमें से पहले चरण में बन रहे दो स्टेशनों में गुलधर और दुहाई ऐसे स्टेशन हैं जिनके निर्माण का कार्य तेजी के साथ चल रहा है। इन दोनों ही स्टेशन के बनाने के लिए सिविल वर्क लगभग 70 प्रतिशत तक पूरा हो चुका है। मगर, इन दोनों ही स्टेशन में आने-जाने के लिए जो रास्ते बनाए जाएंगे उसकी जमीन को लेकर समस्य आ रही है। जहां आने-जाने के लिए कॉरिडोर बनाया जाना है वहां सरकारी जमीन नहीं है। ऐसे में फैसला लिया गया है कि यहां इसके लिए प्राइवेट जमीन का यूज किया जाएगा। इसके लिए जमीन अधिग्रहण के लिए पहले ही अधिसूचना जारी की जा चुकी है। अब मंडलायुक्त की अनुमति मिलने के बाद जमीन पर आरआरटीएस कब्जा लेकर कार्रवाई करेगा।