युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। नगर निगम ने शुक्रवार को पुलिस और प्रशासन के सहयोग से लोहा मंडी में अवैध रूप से संचालित 32 अस्थायी दुकानों को ध्वस्त करा दिया। इस दौरान भारी संख्या में पुलिसकर्मी मौजूद थे। वहीं दुकानदारों का कहना है कि उनके पास नगर निगम की ओर से खोखा लगाने का कार्ड है। करीब तीन साल पहले नगर निगम ने यहां लगने वाली अस्थायी दुकानों को कार्ड जारी किया गया था।
वहीं, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथिलेश कुमार ने बताया कि लोहा मंडी में अवैध रूप से मुर्गा और मछली बेचने की दुकानें चल रही थीं। कई दुकानदारों ने पक्का निर्माण कर लिया था। नगर निगम से इसकी शिकायत की गई थी। शिकायतों के आधार पर शुक्रवार को कार्रवाई की गई।
वहीं दुकानदारों का कहना है कि दुकानों को ध्वस्त करने से पहले उन्हें सामान हटाने का मौका तक नहीं दिया गया। दुकानदारों ने विरोध किया तो उनको पुलिस की मदद से शांत करवाया गया।
यहां अस्थायी दुकान लगाने वाले प्रवीण सिंह का कहना है कि यह मार्केट पिछले तीस साल से चल रहा था। यहां के ज्यादातर दुकानदारों के पास नगर निगम की ओर से जारी कार्ड भी है। लोगों ने आज नगर निगम की कार्रवाई का विरोध किया। विरोध करने वालों में पारस, शिवनाथ, रामरतन, आरिफ आदि शामिल थे।