युग करवट ब्यूरो
नई दिल्ली। दिल्ली नगर निकाय चुनावों के नतीजों ने जहां आम आदमी पार्टी को खुश होने का मौका दिया है वहीं भाजपा के कार्यकर्ताओं के हाथ मायूसी लगी है। रुझान और परिणाम बता रहे हैं कि दिल्ली में झाड़ू जमकर चली है। खबर लिखे जाने तक आम आदमी पार्टी १३४ और भाजपा १०३ पर आगे चल रही थी। कांग्रेस भी 10 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। एमसीडी की 250 सीटों पर 4 दिसंबर को मतदान हुआ था। इन चुनाव में 250 वार्ड में कुल 1349 उम्मीदवार मैदान में थे। दिल्ली एमसीडी पर पिछले 15 साल से भाजपा काबिज है, लेकिन इस बार आम आदमी पार्टी ने उसे बाहर का रास्ता दिखा दिया है। वोटों की गिनती के लिए चुनाव आयोग ने कुल 42 मतगणना केंद्र बनाए। मतगणना के लिए 68 चुनाव पर्यवेक्षकों की तैनाती की गई। वोटों की गिनती रिटर्निंग ऑफिसर द्वारा उम्मीदवारों की मौजूदगी में या उनके प्रतिनिधियों के सामने की जा रही है। इसके अलावा चुनाव आयोग ने ईसीआईएल के 136 इंजीनियरों को भी तैनात किया है। दिल्ली नगर निगम की 196 सीटों पर नतीजे आ चुके हैं। आम आदमी पार्टी को 106 सीटों पर जीत मिली है। 84 सीटों पर बीजेपी जीती है। कांग्रेस ने 5 पर जीत हासिल की है। 1 पर निर्दलीय ने जीत हासिल की है। ‘आप’ अभी 26, बीजेपी 20, कांग्रेस 5 और निर्दलीय 3 सीटों पर आगे चल रहे हैं।