युग करवट ब्यूरो
नई दिल्ली। दिल्ली नगर निगम में मेयर पद के लिये आज मतदान हुआ। चुनाव के दौरान हंगामा हो गया है। मनोनीत सदस्यों को पहले शपथ दिलाने को लेकर हंगामा हुआ। इस दौरान पार्षद एक-दूसरे के साथ तीखी बहस करते हुए नजर आए। दिल्ली नगर निगम के मुख्यालय सिविक सेंटर में जीते पार्षदों को पद व गोपनीयता की शपथ के साथ महापौर, उपमहापौर व स्थायी समिति के छह सदस्यों का चुनाव हो रहा है। दिल्ली नगर निगम में आम आदमी पार्टी ने 134 सीटें और बीजेपी ने 104 सीटें जीती थीं। वहीं कांग्रेस को 9, जबकि अन्य को 3 सीटें मिली थीं। उपराज्यपाल ने मेयर चुनाव की प्रक्रिया को पूरा कराने के लिए पीठासीन अधिकारी के रूप में सत्या शर्मा को नामित किया था। आम आदमी पार्टी ने शैली ओबेराय को महापौर पद का प्रत्याशी बनाया है, जबकि उप महापौर के लिए आले मोहम्मद इकबाल को उतारा है। इसी तरह आमिल मलिक, रविंद्र कौर, मोहिनी जीनवाल और सारिका चौधरी को स्थायी समिति सदस्य के लिए मैदान में उतारा है। भाजपा ने महापौर पद के लिए रेखा गुप्ता को उम्मीदवार बनाया है। तीसरी बार पार्षद व भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रेखा गुप्ता के कंधों पर भाजपा को जीत दिलाने का दारोमदार है। वहीं, पार्टी ने उप महापौर के लिए कमल बागड़ी को उतारा है। आज सुबह ११ बजे मतदान शुरु हुआ। इसी दौरान नामित पार्षदों को लेकर आम आदमी पार्टी के पार्षदों ने हंगामा शुरु कर दिया। आम आदमी पार्टी के पार्षद प्रवीण राणा ने जान से मारने की कोशिश करने का आरोप लगाया है। उन्होंने प्रेस के सामने अपनी चोट भी दिखाई। आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि भाजपा ने सभी कानूनों को दरकिनार करते हुए पहले मनोनीत पार्षदों को शपथ दिलाने का प्रयास किया जबकि पहले चुने हुए पार्षदों को शपथ दिलाई जाती है।