युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। लोनी थाना क्षेत्र अंतर्गत चिरोड़ी कस्बा में स्थित जनता इंटर कॉलेज के सामने आज सुबह ११ बजे सिरौली निवासी ५२ वर्षीय किसान सुरेंद्र सिंह की गोलियों से भूनकर सरेराह हत्या कर दी गई। दिनदहाड़े हुई सनसनीखेज हत्या के बाद जहां कस्बे में सनसनी फैल गई वहीं मृतक किसान के घर मातमी माहौल व्याप्त हो गया। इस वारदात की सूचना मिलते ही लोनी थाना प्रभारी निरीक्षक ओमप्रकाश सिंह के अलावा पुलिस के आला अफसर भी घटनास्थल पर पहुंच गये। इसके बाद पुलिस ने नाकाबंदी करके हत्यारों को पकडऩे के लिये चेकिंग करने के अलावा कॉम्बिंग भी शुरू कर दी। लेकिन पुलिस हत्यारों को पकडऩे में सफल नहीं हो पाई। इस संदर्भ में एसपी देहात डॉक्टर इरज राजा का कहना है कि पुलिस की कई टीम सुरेंद्र सिंह की हत्या करने वाले हत्यारों की गिरफ्तारी के लिये लगाया गया है। शीघ्र ही सुरेंद्र सिंह के हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा। श्री राजा ने बताया कि सुरेंद्र सिंह की हत्या के पीछे पुरानी रंजिश लग रही है। हत्या के बाद मृतक के परिजनों ने सैंकड़ों लोगों के साथ मिलकर लोनी विधायक नन्दकिशोर गुर्जर व पुलिस के अधिकारियों का भी घेराव करके जमकर हंगामा किया।
काफी देर तक विधायक व अधिकारी आक्रोशित भीड़ में मौजूद मृतक के परिजनों को समझाते दिखाई दिये लेकिन वो हत्यारों की गिरफ्तारी की बात पर अड़े रहे।
सूत्रों के अनुसार लगभग तीन माह पूर्व सुरेंद्र सिंह के छोटे भाई जैनेंद्र उर्फ जॉनी की हत्या भी गोली मारकर कर दी गई थी। परिजनों ने हंगामा करते हुए पुलिस पर आरोप लगाया कि जहां पुलिस अभी जैनेंद्र उर्फ जॉनी की हत्या के मुख्य अभियुक्त को भी गिरफ्तार नहीं कर सकी है वहीं पुलिस ने सुरेंद्र सिंह के द्वारा कई बार लगाई गई सुरक्षा देने की गुहार को भी गंभीरता से नहीं लिया। परिजनों ने यह आरोप भी लगाये कि सुरेंद्र की हत्या नहीं होती अगर पुलिस अलर्ट होती।
समाचार लिखे जाने तक सैंकड़ों लोगों की भीड़ न केवल हंगामा कर रही थी बल्कि क्षेत्रीय विधायक व अधिकारियों का घेराव करके सुरेंद्र सिंह के हत्यारों को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग भी कर रही थी। उधर पुलिस ने सुरेंद्र सिंह की हत्या करने वाले हत्यारों की गिरफ्तारी के लिये छापेमारी शुरू कर दी थी। साथ ही इस वारदात की रिपोर्ट भी दर्ज करके मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिये भिजवा दिया था।