युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। अखिल भारतीय अधिवक्ता कल्याण मंच गाजियाबाद ने डीएम के माध्यम से देश के राष्टï्रपति और राष्टï्रीय अनुसूचित जाति, जनजाति आयोग को ज्ञापन सौंपा है, जिसमें अधिवक्ताओं ने इंदौर के गांव खंडीगारा में रविदास समाज के दुल्हे को दंबगों द्वारा घोड़ी से उतार दिए जाने की घटना को लेकर नाराजगी जाहिर करते हुए दोषियों को सजा दिलाने की मांग की है। अधिवक्ताओं का कहना है कि दबंगों ने बारातियों के साथ भी जमकर मारपीट की। इस मामले में एफआईआर भी दर्ज कराई गई जिसके बाद दबंगों ने दलित परिवार का सामाजिक बाहिष्कार कर दिया। बाहिष्कार होने से परिवार को पूरे गांव में कोई राशन, पानी आदि सामान नहीं दे रहा है, जिससे परिवार का जीना मुश्किल हो गया है। दलित परिवार से बात करने पर लोगों को ११ हजार रुपए का जुर्माना लगाए जाने की भी धमकी दी गई है। डर से कोई पीडि़त परिवार से बात तक करने को तैयार नहीं है। कल्याण मंच ने ज्ञापन सौंप कर इस मामले में कड़ी कार्रवाई की मांग की है, जिससे इस तरह की घटनाएं फिर से न हो सके। ज्ञापन देने वालों में संजीव कुमार निगम, श्यौजराज सिंह, मदनलाल केमवाल, केपी सिंह, ओमकांर सिंह आदि मौजूद रहे।