गाजियाबाद (युग करवट)। सोमवार/मंगलवार की रात को राजनगर एक्सटेंशन में हुई हाफिजपुर हापु़ निवासी महबूब अली नामक कारोबारी की हत्या के मामले में नन्दग्राम थाने के एसएचओ धर्मपाल सिंह की टीम ने सुमित व अंकित त्यागी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक अभी उक्त वारदात का तीसरा हत्याभियुक्त विजय उर्फ सेंटी आलाकत्ल के साथ फरार है। पुलिस का कहना है तीसरे हत्याभिुक्त की गिरफ्तारी के लिये कई टीम उसके ठिकानों पर दबिश दे रही हैं। बता दें नन्दग्राम थाना क्षेत्र अंतर्गत राजनगर एक्सटेंशन में में एक संगीन वारदात के दौरान एक कारोबारी ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर दूसरे व्यवसायी को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। पुलिस के मुताबिक कार/वाहनों की सैल्स परचेज करने वाले दो कारोबारियों में थार के सौदे को लेकर मनमुटाव चल रहा था। सोमवार/मंगलवार की रात को एक पक्ष के महबूब अली निवासी हाफिजपुर हापुड़ और दूसरे गुट के सेंटी उर्फ विजय व अंकित त्यागी के बीच एक थार जीप को बेचने को लेकर हॉट-टॉक हो गई। इस गरमा-गरमी के बीच हाफिजपुर हापुड़ निवासी महबूब अली को अंकित त्यागी व सेंटी उर्फ विजय ने गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। इस वारदात के संदर्भ में एसीपी नन्दग्राम रवि कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस का सूचना मिली थी राजनगर एक्सटेंशन में एक व्यक्ति का शव पड़ा हुआ है। मौके पर पहुंचने पर मृतक के साथी सुमित ने बताया कि मरने वाले का नाम महबूबअली है और उसका मर्डर अंकित त्यागी व विजय उर्फ सेंटी ने किया है। श्री सिंह ने बताया कि मृतक के परिजनों के द्वारा दी गई उक्त वारदात की तहरीर के आधार पर नन्दग्राम थाना पुलिस ने अंकित त्यागी, सेंटी उर्फ विजय व सुमित के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज करके नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिये। श्री सिंह ने बताया कि पुलिस ने सुमित को गिरफ्तार कर लिया।

श्री सिंह ने बताया कि महबूब अली के मर्डर में शामिल अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिये पुलिस की कई टीम उनके ठिकानों व मकानों पर दबिश दे रही हैं।