गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज गोरखनाथ मंदिर के हिंदू सेवाश्रम में जनता दरबार लगाया। उन्होंने फरियादियों को सुना और प्रभावी कार्रवाई का भरोसा दिलाया। जनता दरबार में सर्वाधिक मामले पुलिस और राजस्व से जुड़े आए। गुरु गोरखनाथ के दर्शन-पूजन के बाद सीएम, हिंदू सेवाश्रम में आयोजित जनता दरबार में पहुंचे।
यहां 150 के करीब फरियादियों की समस्याएं सुनीं। उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। यात्री निवास में इंतजार कर रहे 700 के करीब फरियादियों के लिए कमिश्नर, डीएम, एसएसपी और अन्य अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे उनकी समस्याएं सुनें। यहां सर्वाधिक शिकायतें पुलिस और राजस्व से जुड़ी हुई आईं। सीएम योगी ने फिर एक बार दोहराया कि थाना और तहसील स्तर के मामलों का निस्तारण वहीं किया जाए। इसमें लापरवाही करने वाले अफसरों को चिन्हित करके उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।
उन्होंने पुलिस व प्रशासन के आला अफसरों से कहा कि छोटे- छोटे मामलों का निस्तारण यदि जिला, तहसील और थाना स्तर पर होता तो लोग इतनी दूर से यहां जनता दरबार में नहीं आते। उन्होंने अधिकारियों को हिदायत दी कि जिला कार्यालयों, तहसीलों और थानों में आने वाली शिकायतों को गंभीरता से लेकर उनका गुणवत्तापूर्ण ढंग से त्वरित निस्तारण करें। जनता दरबार में कमिश्नर रवि कुमार एनजी, डीएम कृष्ण करुणेश, एसएसपी गौरव ग्रोवर, एसपी सिटी कृष्णा कुमार विश्नोई समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे। जनता दरबार से पहले सीएम ने गो सेवा की और हमेशा की तरह अपने श्वान कालू और गुल्लू को भी दुलारा।