लखनऊ (युग करवट)। प्रदेश की राजधानी में शुक्रवार की शाम दो महत्वपूर्ण बैठक हुई। जिनमें त्यागी विरोध का सकारात्मक हल निकालने पर फैसला लिया गया है। संभव है कि अगले एक दो दिन में ही सरकार कुछ महत्वपूर्ण कदम उठा सकती है।
लखनऊ में शुक्रवार को संयुक्त त्यागी स्वाभिमान मोर्चा के सदस्य एसीएस अवनीश अवस्थी और डीजीपी देवेन्द्र चौहान से मिले थे। तो सरकार ने पश्चिम यूपी के अपने त्यागी सामज के जनप्रतिनिधियों को बुलाया था। जनप्रतिनिधियों ने समाज के आक्रोश से सरकार को अवगत कराते हुए कुछ ठोस कदम उठाने को कहा था। तो संयुक्त त्यागी स्वाभिमान मोर्चा ने अपर गृह सचिव तथा डीजीपी के सामने अपना मांग पत्र रखा था। सरकार पूरे मामले पर गंभीर है। सूत्र बताते हैं कि यह मान लिया गया है कि श्रीकांत त्यागी मामले पर आवेश और जल्दबाजी में ज्यादती हो गई है। सूत्रों की मानें तो अगले एक दो दिन में सरकार कुछ बड़े फैसले ले सकती है। संभावना है कि श्रीकांत के घर पहुंचने वाले सभी नौ युवको के केस वापस लिए जा सकते हैं। कुछ पुलिसकर्मियों पर भी कार्रवाई की जा सकती है। वैसे यह भी है कि 21 की महापंचायत के बाद ही सरकार कोई निर्णय लेगी।