युग करवट संवाददाता
गाजियाबाद। अगर सबकुछ सही रहा तो जल्द ही राजनगर स्थित जिला कोर्ट परिसर मधुबन-बापूधाम में शिफ्ट होगी। कोर्ट के लिए जीडीए ने जमीन देने पर सहमति जता दी है। इस नए कोर्ट में जहां अधिवक्ताओं के चैंबरों की अधिक संख्या होगी वहीं वादी-फरियादियों के लिए भी अतिरिक्त स्पेस होगा व पार्किंग से अन्य सुविधाएं भी परिसर में मिलेंगी। कोर्ट रूम भी बड़े होंगे। जिला जज द्वारा जिला प्रशासन को इस संबंध में प्रस्ताव भेजा गया था जहां जीडीए से जमीन मांगी गई थी। कोर्ट परिसर के लिए ५० एकड़ जमीन मांगी गई है लेकिन जीडीए ने तीस एकड़ जमीन के अलावा अलग-अलग प्रस्तावों पर जमीन उपलब्ध कराने की सहमति दे दी है। इसमें तीस एकड़ में सिविल कोर्ट, ८८४४ वर्ग मीटर में फैमिली कोर्ट और ४७२२ वर्ग मीटर में दुर्घटना बीमा के मामलों से संबंधित कोर्ट के लिए जमीन प्रस्तावित की है। इसमें सिविल कोर्ट के लिए ७२० करोड़, फैमिली कोर्ट के लिए ५२ करोड़ और दुर्घटना बीमा कोर्ट के लिए ४५ करोड़ रुपए की धनराशि प्रस्तावित की गई है। एडीएम सिटी विपिन कुमार ने बताया कि मधुबन-बापूधाम में कोर्ट बनने से वहां काफी सहूलियतें होंगी। पार्किंग से लेकर स्पेस भी खूब मिलेगा। इतना ही नहीं, तहसील सदर को भी वहीं शिफ्ट करने की प्लानिंग है।