एनडीए संसदीय दल की बैठक में नेता चुने गए मोदी
नेता सदन चुनने के लिए राजनाथ सिंह ने रखा मोदी के नाम का प्रस्ताव
नई दिल्ली (युग करवट)। राजनाथ सिंह ने एनडीए के नेता के तौर पर नरेंद्र मोदी के नाम का प्रस्ताव रखा। उन्होंने कहा कि पीएम ने 10 सालों में जो काम किया है, उसकी तारीफ देश और दुनिया दोनों ही जगहों पर हुई है। जेपी नड्डा ने भाषण की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आभार जताते हुए की। एनडीए गठबंधन की संयुक्त बैठक में आज नरेंद्र मोदी को तीसरी बार सर्वसम्मति से नेता सदन के रूप में चुन लिया गया है। यानी नरेंद्र मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। 9 जून की शाम 6 बजे शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया जाएगा।
इस दौरान सेंट्रल हॉल मोदी-मोदी के नारों से गूंज उठा। नड्डा ने सांसदों के साथ-साथ मुख्यमंत्रियों और उपमुख्यंमत्रियों का स्वागत किया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सेंट्रल हॉल में नीतीश कुमार और चंद्रबाबू नायडू के साथ चर्चा करते हुए देखा गया। इस दौरान सेंट्रल हॉल में उनके समर्थन में नारे लगाए गए। एनडीए संसदीय दल की बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि हम प्रधानमंत्री को हार्दिक बधाई देते हैं, जिन्होंने हर पल देश की सेवा में बिताया। यही कारण है कि भारत आज इतिहास रच रहा है और एनडीए लगातार तीसरी बार बहुमत की सरकार बना रही है। एनडीए सांसदों की बैठक का आयोजन संविधान सदन (पुरानी संसद) में किया गया।
पीएम मोदी की जब संसद के सेंट्रल हॉल में एंट्री हुई तो लोगों ने ताली बजाकर स्वागत किया। फिर पीएम मोदी का अंदाज हर किसी को पसंद आया। सदन में मौजूद नेताओं ने ताली बजाई और स्टैंडिंग ओवेशन दिया। पीएम जब मंच पर पहुंचे तो वहां बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने स्वागत किया। पीएम ने भी हाथ जोडक़र सभी सदस्यों का अभिवादन किया. काफी देर तक सदन में तालियां गूंजती रहीं।
बताते चलें कि देश में तीसरी बार एनडीए की सरकार बनने जा रही है। एनडीए ने 293 सीटें जीती हैं. बीजेपी को 240, टीडीपी को 16, जेडीयू को 12, शिवसेना को 7, लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) को 5 सीटें मिली हैं। जेडीएस, आरएलडी, जेएसपी को दो-दो सीटें मिली हैं।